अफगानिस्तान में अमेरिका का रेस्क्यू मिशन खत्म होने से पहले तालिबान का दावा, पंजशीर घाटी में घुसे तालिबानी लड़ाके

अफगानिस्तान में अमेरिका का अभियान 31 अगस्त तक खत्म हो जाएगा। अमेरिका का रेस्क्यू मिशन खत्म होने से पहले तालिबान ने पंजशीर घाटी में भी प्रवेश करने का दावा किया है। तालिबान ने कहा कि उसके लड़ाके पंजशीर घाटी में घुस गए हैं। हालांकि, इस दावे को पंजशीर के शेर कहे जाने वाले अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद ने खारिज कर दिया है। अफगानिस्तान के स्थानीय न्यूज चैनल टोलो न्यूज के मुताबिक, तालिबान के सांस्कृतिक आयोग के एक सदस्य ने कहा है कि बातचीत का रास्ता अब भी खुला हुआ है।

अफगानिस्तान में तनाव के बीच में अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर के बीच बातचीत हुई। अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक, दोनों ने अफगानिस्तान और संयुक्त राष्ट्र में निरंतर समन्वय समेत साझा प्राथमिकताओं व्यापक बातचीत चर्चा की। अमेरिका और भारत के बीच साझेदारी को गहरा करने के लिए साझा लक्ष्यों और प्राथमिकताओं पर समन्वय बनाए रखने पर सहमत हुए।

व्हाइट हाउस ने बताया है कि अमेरिका ने 14 अगस्त से शुरू हुए रेस्क्यू अभियान के बाद काबुल एयरपोर्ट से 111,900 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है। वहीं, काबुल में हुए धमाके के बाद 27 अगस्त सुबह 3 बजे से लेकर 28 अगस्त सुबह 3 बजे तक 6800 लोगों को निकाला गया। व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने बताया कि 14 अगस्त के बाद से, अमेरिका ने लगभग 111,900 लोगों को निकालने या उनकी निकासी में मदद की गई। जुलाई के आखिर से हमने लगभग 117,500 लोगों को रि-लोकेट किया है।

अमेरिका समेत बाकी देशों का निकासी अभियान खत्म होने की बढ़ने के साथ ही तालिबान उस जगह पर कब्जा जमा रहा है, जहां पर पहले अमेरिका और बाकी देशों के सैन्यकर्मी तैनात थे। काबुल हवाईअड्डे और उसके आस-पास तालिबान ने अपनी सुरक्षा को बढ़ाना शुरू कर दिया है। गुरुवार को हुए ब्लास्ट में बड़ी संख्या में लोगों की मौत होने के बाद तालिबान ने एयरपोर्ट के आसपास आधुनिक हथियारों से लैस लड़ाके तैनात कर दिए हैं। इसके साथ ही उनकी संख्या में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई। 31 अगस्त को अमेरिकी सैनिकों के पूरी तरह से अफगानिस्तान छोड़ देने के बाद एयरपोर्ट पर तालिबान का कब्जा हो जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button