तमिलनाडु: 9वीं में पढ़ने वाली छात्रा ने ठुकराया शादी का प्रस्ताव, युवक ने पेट्रोल डालकर जला दिया जिंदा

पुलिस ने शनिवार को बताया कि किशोरी 70 प्रतिशत जल गई है। नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की शुक्रवार को घर वापस लौट रही थी, जब उसके साथ यह हादसा पेश आया।

तमिलनाडु के मदुरै में 23 वर्ष के एक युवक को उसका प्रेम प्रस्ताव ठुकराने वाली एक लड़की पर पेट्रोल डालकर उसे जला डालने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शनिवार को बताया कि किशोरी 70 प्रतिशत जल गई है।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की शुक्रवार को घर वापस लौट रही थी, जब उसके साथ यह हादसा पेश आया। आरोपी बालामुरूगन अपराध के बाद मौके से फरार हो गया था, उसे शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोपी लड़की से शादी करना चाहता था और उस पर इसके लिए दबाव बना रहा था। लड़की के अभिभावकों ने इस बारे में पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी। पुलिस में शिकायत किए जाने से नाराज बालामुरूगन ने कथित रूप से लड़की का रास्ता रोका और उसपर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। लड़की को मदुरै के सरकारी राजाजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

वहीं दूसरी तरफ, मद्रास उच्च न्यायालय ने अपने निर्देश के बावजूद एक महिला पर अलग रह रहे अपने पति को सप्ताहांत के दौरान बच्चे से नहीं मिलने देने के कारण 2000 रुपए का जुर्माना लगाया। अदालत ने कहा कि किसी बच्चे के अच्छा इंसान बनने के लिए पिता और मां दोनों का प्यार एवं लगाव जरूरी है।

न्यायमूर्ति एस वैद्यनाथन ने नागपट्टनम निवासी बच्चे के पिता सेल्वाकुमार की ओर से दाखिल की गई अवमानना याचिका पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की। अदालत ने कहा कि उपलब्ध साक्ष्य और तथ्य के आधार पर यह स्पष्ट है कि याचिकाकर्ता की पत्नी ने सप्ताहांत के दौरान बच्चे के साथ समय गुजारने की अनुमति देने के अदालत के पूर्व के आदेश का पालन नहीं किया।

अदालत ने महिला पर 2000 रुपए का जुर्माना भी लगाया। याचिकाकर्ता ने कहा कि उनकी शादी 30 जनवरी 2012 को हुई थी। उसी साल दंपति को एक बच्चा भी हुआ। हालांकि मतभेद के कारण महिला अलग रहने चली गई। अदालत ने कहा, अगर बच्चे को अच्छा इंसान बनने देना है तो उसके लिए पिता और माता का प्यार एवं लगाव जरूरी है।

1
Back to top button