“सीसीटीवी रिकॉर्डिंग के साथ छेड़छाड़, शासन ने एडीजी जेल से मांगी रिपोर्ट

चार सदस्यीय टीम जांचेगी जेल प्रशासन की भूमिका-

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के देवरिया की जेल में 26 दिसंबर को 25-30 लोगों द्वारा एक शख्स को कथित रूप से पीटे जाने के मामले पर जिला मजिस्ट्रेट अमित किशोर ने कहा, “सीसीटीवी रिकॉर्डिंग के साथ छेड़छाड़ की गई है। हमने घटना का संज्ञान ले लिया है। जांच कर रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कमेटी गठित कर दी गई है।”

डीएम अमित किशोर ने पूरे मामले की जांच के लिए एडीएम प्रशासन राकेश पटेल की अगुवाई में चार सदस्यीय टीम गठित की है। टीम में एसडीएम सदर रामकेश यादव, सीओ सिटी वरुण मिश्र और एनआईसी के डीआईओ कृष्णानंद यादव को शामिल किया गया है। टीम सीसीटीवी फुटेज डिलीट किए जाने के मामले में जेल प्रशासन की भूमिका की भी जांच करेगी।

देवरिया के डीएम अमित किशोर का कहना है कि जेल में औचक निरीक्षण किया गया। जहां सीसीटीवी कैमरे के साथ छेड़छाड़ की बात सामने आई है। इसकी जांच के लिए चार सदस्यीय टीम गठित की गई है, जो सोमवार तक रिपोर्ट देगी। उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

बेहद गोपनीय तरीके से हुई छापेमारी

छापेमारी की कार्रवाई बेहद गोपनीय तरीके से की गई। सथी थानों को वायरलेस सेट से 10 पुलिसकर्मियों के साथ जिला मुख्यालय पहुंचने को कहा गाया। इसके साथ ही अधिकारियों को भी बुला लिया गया। जिला मुख्यालय पहुंचने के बाद रवानगी के समय सभी को छापेमारी की जानकारी दी गई। पूरी कार्रवाई के दौरान डीएम अमित किशोर और एसपी एन कोलांची जेल में मुस्तैद रहे।

प्रमुख सचिव गृह एवं जेल अरविन्द कुमार ने कहा कि अतीक अहमद प्रकरण में एडीजी जेल से रिपोर्ट मांगी गई है, ताकि देवरिया जेल में हुई चूक के मामले में जिम्मेदारी तय की जा सके।

सोमवार को रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में लखनऊ के कृष्णागर थाने में मुकदमा दर्ज है, जिसमें नामजद 4 लोगों में से 2 को गिरफ्तार कर लिया गया है।

new jindal advt tree advt
Back to top button