गुरसिया के पास बरोदखार के तालाब में मिली व्यक्ति की लाश,बांगो पुलिस मर्ग कायम कर विवेचना में जुटी।

मृतक गोपालपुर के इंडियन ऑयल कारपोरेशन लिमिटेड में लगी टेंकर में ड्रायवर का कार्य करता था

अरवंद
गुरसिया
: थाना बांगो के अंर्तगत बरोदखार के तालाब में एक व्यक्ति का शव पुलिस ने बरामद किया है। मृतक के सिर पर गहरे चोट के जख्म मौजूद हैं किसी भारी वस्तु से वार किए जाने जैसा प्रतीत हो रहा है।प्रथम दृष्टया मर्डर का मामला दिखाई पड़ता है।पुलिस मर्ग कायम कर विवेचना में जुटी।

मामला इस प्रकार है कि दिनांक 9/11/2019 को स्थानीय कोटवार 11बजे थाना में उपस्थित होकर घटना कि जानकारी देते हुए बताया कि वह जब सुबह उठकर फ्रेस होने करीब 7 बजे तालाब किनारे गया तो देखा कि तालाब किनारे पानी मे लाल रंग का आग बुझाने का सिलेंडर रखा हुआ है जब नजदीक जाकर देखा तो तालाब में एक शव भी दिखाई दिया और तत्काल कोटवार ने इसकी सूचना कोंनकोना सरपंच के पुत्र योगेश आयाम को दी गई।तत्पश्चात बांगो पुलिस को घटना की सूचना दी गई और पुलिस ने शव तालाब से निकलवाकर मर्ग कायम कर कटघोरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के मरचुरी में शव को रखवाकर कर विवेचना में जुट गई है।

मृतक की पहचान नरेश कुमार रजक पिता बाबूराम रजक (32) निवासी जिला मुंगेली के अंर्तगत गोड़पारा छीरहुटी के तौर पर की गई है। जो कि गोपालपुर में ही किराये के मकान में रहकर लगभग 1 साल से टेंकर में ड्राइवर का कार्य कर रहा था।

बताया जा रहा है कि मृतक नरेश रजक ग्राम चिरहुटी का रहने वाला है और गोपालपुर में बने इंडियन ऑयल कॉपोरेशन लिमिटेड में फर्म जग शांति लॉजिस्टिक के माध्यम से प्लांट में लगी टेंकर में ड्रायवर का काम करता था।रोजाना की तरह मृतक दिनांक 8/11/2019 को टेंकर cg12ar0702 को प्लांट के अंदर से लोड कराकर कोरिया पटना के लिए रवाना होना था, करीब 2.5 बजे गाड़ी लोड कराकर प्लांट से बाहर निकाला और गाड़ी के टायर में कुछ दिक्कत थी जिसे चेंज कर स्टेपनी लगाया और दिन ढलते करीब 5 बजे मृतक डीजल पर्ची कटवाने गोपालपुर में बने फर्म के आफिस पहुँचा।यहाँ तक तो सब सही चल रहा था लेकिन आखिर शाम 5 बजे के बाद सुबह 9 बजे के बीच ऐसा क्या हुआ कि सीधे ड्रायवर का शव संदिग्ध अवस्था मे मिला।

जानकारी ये भी मिल रही है कि मृतक जिस टेंकर को चलाता था वह टेंकर बरोदखार तक नही पहुँची बल्कि सुबह टेंकर चोरभट्ठी के पाइपलाइन के पास खड़ी देखी गई थी।आखिर रात में गाड़ी कहा गई और मृतक तालाब तक कैसे पहुँचा ये गुथी अभी भी उलझी हुई है।

फर्म की लापरवाही की भेंट चढ़ा मृतक

जब गोपालपुर में बने आफिस में फर्म (जग शांति लॉजिस्टिक) के मैनेजर विजय त्रिवेदी निवासी साडा कालोनी से चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि 5 बजे टेंकर (cg12ar0702)के ड्राइवर को डीजल की पर्ची दे दी गई थी और 5 बजे के बाद हम आफिस बंद करके चले जाते हैं।जब फर्म के मैनेजर से पूछा गया कि रात को गाड़ियों की जानकारी रखते हैं कि नहीं तो जवाब मिला कि 5 बजे के बाद हम घर चले जाते हैं तो हमे जानकारी नही रहती है। ऐसा बताया जाना जो कि कई सवाल खड़े कर रहा है आखिर रात के समय किनकी है जवाबदारी?

लगातार टेंकर से डीजल पेट्रोल की चोरी की खबर हुई आमबात।

प्लांट से निकलने के बाद टेंकरो से डीजल पेट्रोल चोरी हो रही है या टेंकर ड्राइवर स्वम बेच रहे हैं ये भी घटना का हिस्सा हो सकता है।फर्म के मैनेजर ने भी बताया कि टेंकर से 4500 लीटर डीजल एक चेम्बर से चोरी हो गया है।आखिर लगातार डीजल पेट्रोल की हो रही चोरी और पुलिस को भनक तक नही ये बात हजम नही हो रही?

Back to top button