तारक मेहता का उल्टा चश्मा के गोकुलधाम में मचा हाहाकार

लेकिन इस सरप्राइज की मार बेचारे बापूजी पर पड़ी और अब उनका कोई अता-पता नहीं है.

तारक मेहता का उल्टा चश्मा के जेठालाल और मुसीबत का चोली-दामन का साथ है. जेठालाल कुछ भी करें और उनके परिवार या गोकुलधाम सोसाइटी मुश्किल में न आए हो ही नहीं सकता.

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा में जेठालाल ने इस बार गोकुलधाम सोसाइटी को सरप्राइज दिया लेकिन इस सरप्राइज की मार बेचारे बापूजी पर पड़ी और अब उनका कोई अता-पता नहीं है.

जेठालाल समेत पूरी गोकुलधाम सोसाइटी बापूजी की खोज में लगी है कि वे कहां चले गए हैं.

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा के अगले एपिसोड में जेठालाल के सरप्राइज के बाद सभी गोकुलधामवासी पतंग उड़ाकर और स्टैचू ऑफ यूनिटी पर मौज मस्ती करके वापस मुंबई आ जाते हैं.

सभी इस मजेदार ट्रिप के बारे में किस्से कहानियां एक दूसरे को सुनाते हुए गोकुलधाम पहुंच जाते हैं. काफी समय के बाद जेठालाल को ये अहसास होता है कि बापूजी उनके साथ वापस नहीं आए.

बहुत घबरा के वो सब को बुलाता है. सभी डर जाते हैं और अलग-अलग तरह की अटकलें लगाने लगते हैं.

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा में भिड़े, पोपटलाल और जेठालाल भिड़े की स्कूटर सखाराम पर बैठकर बापूजी को खोजने के लिए निकलते हैं. रास्ते में मिला हर व्यक्ति उनको बापूजी नजर आता है.

जब खूब ढूंढने पर भी बापूजी नहीं मिलते तो जेठालाल तो जैसे पागल-सा ही हो जाता है. तभी पोपटलाल सबको उस बस को ढूंढने की सलाह देता है जिस बस में बैठकर सभी मुंबई वापस आये थे.

अंत में बस मिल जाती है. लेकिन क्या बापूजी बस के अंदर हैं ? दूसरा सवाल यह है कि अगर बापूजी उस बस के अंदर ही हैं तब चार लोग एक स्कूटर पर बैठकर वापस कैसे जाएंगे ?

 

1
Back to top button