छत्तीसगढ़

कबीरधाम जिले में विभिन्न प्रजातियों के 9 लाख 91 हजार 320 पौधौ रोपण करने का लक्ष्य

6, 11 और 20 जुलाई को तीन चरणों में होगा जिले में पौधारोपण।

हिमांशु सिंह ठाकुर ब्यूरो रिपोर्ट कवर्धा।

कवर्धा : कबीरधाम जिले में इस वर्ष वृहद पैमाने पर विभिन्न प्रकार के 9 लाख 91 हजार 320 पौधों का रोपण करने का लक्ष्य रखा गया है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप वन मंत्री मोहम्म्द अकबर के निर्देश पर जिले में वृहद पौधारोपण करने की तैयारी शुरू कर दी है जिले में पौधारोपण तीन चरणों में किया जाएगा।

पौधारोपण का पहला चरण 6 जुलाई को वन महोत्सव के साथ शुरू होगा।पहला चरण में जिले के शासकीय भवन, स्कूल, आश्रम, छात्रावास, आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य केन्द्र के खाली जमीन पर कम से कम 5 मुनगे के पौध लगाएं जाएगें दूसरा चरण 11 जूलाई को शुरू होगा दूसरे चरण में राज्य शासन की फेलोशिप योजना सुराजी गांव योजना के बाड़ी विकास के लिए चिन्हांकित हितग्राहियों को उनकी बाड़ी में फलदार पौधा रोपण और सब्जी बीज दिया जाएगा।अभियान का तीसरा चरण किसानों के तिहार हरेली 20 जूलाई के दिन पौधा रोपण किया जाएगा।

तीसरे चरण में जिले के गौठान, चारागाह स्थलों में छायादार और फलदार पौधे रोपण किए जाएगें कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने आज समय सीमा की बैठक में वृहद पौधारोपण के लक्ष्यों की तैयारियों के संबंध में विस्तृत समीक्षा करते हुए अलग-अलग विभागों को दायित्व दिए है। उन्होंने कहा है कि कबीरधाम जिले में 38 विभिन्न प्रजातियों के पौधे वन विभाग की नर्सरी में तैयार कर लिए है।

पौधारोपण अभियान

इसके अलावा उद्यानिकी विभाग के नर्सरी में भी पौधे तैयार है। पौधारोपण अभियान जिले में एक साथ किया जाएगा। उन्होंने जनपद पंचायत के अधिकारियों को भी निर्देश दिए वन मंडलाधिकारी दिलराज प्रभाकर ने बताया कि वन मंडल कवर्धा द्वारा जिले में बृहद पौधा रोपण वर्षा ऋतु-2020 के अंतर्गत शासन की मंशा के अनुरूप इस वर्षा ऋतु में सभी योजनाओं में 9 लाख 91 हजार 320 पौधों का रोपण तथा निःशुल्क वितरण किया जाएगा साथ ही बाड़ी योजना के अंतर्गत फलदार पौधों जैसे, आम, बेर, जामुन, बेल, सीताफल के तीन हजार किलोग्राम तथा सब्जियां जैसे, मुनगा, लौकी, बरबट्टी, भिंडी, बैंगन, आदि के 330 किलोग्राम बीज का वितरण संयुक्त वन प्रबंधन समितियां के सदस्य और उनके परिवारों को किया जाएगा।

वन क्षेत्र के अंदर 2 लाख 35 हजार 840 वृक्षारोपण विभागीय योजनाओं अंतर्गत करवाया जाएगा

वन क्षेत्र के अंदर 2 लाख 35 हजार 840 वृक्षारोपण विभागीय योजनाओं अंतर्गत करवाया जाएगा उसी प्रकार वन क्षेत्र के बाहर के क्षेत्र में सात हजार 295 पौधा का रोपण किया जाएगा मनरेगा से पौधा तैयार कर निःशुल्क पौधा वितरण योजना में वन महोत्सव के दौरान, वन विभाग द्वारा वाहन से घर पहुंचा कर निःशुल्क पौधा प्रदाय योजना में बीस हजार पौधा, निजी भूमियों पर वृक्षारोपण में 3 लाख 26 हजार एक सौ पौधा, कृषि भूमि पर एक लाख सामुदायिक भूमि जैसे, मुक्तिधाम, श्मशान घाट, कब्रिस्तान, रोड किनारे गोठान-चारागाह पर लगभग एक लाख 600 राजकीय भूमि जैसे, थाना, अस्पताल, आंगनवाड़ी, पंचायत भवन, न्यायालय, स्कूल-कॉलेज, आश्रम छात्रावास में 50 हजार पौधे, नदियों के केचमेंट एरिया में लगभग 3 हजार 300 पौधे रोपण के लिए निःशुल्क वितरित किए जाएंगे।

इसी प्रकार, वन अधिकार मान्यता पत्र अंतर्गत हितग्राहियों का भूमि अनुसार क्लस्टर बनाकर 6 हजार पौधा तथा सीड बॉल रोपण अंतर्गत एक लाख सीड बॉल तैयार कर उनका फैलाव वन क्षेत्रों में करवाया जायेगा। वन विभाग कवर्धा की नर्सरी में वर्तमान में विभिन्न परी परिक्षेत्र में निःशुल्क वितरण हेतु मनरेगा से तैयार 5 लाख 25 हजार पौधा एवं पौधा प्रदाय योजना अंतर्गत तैयार 75 हजार पौधा वितरण हेतु तैयार हैं। वन विभाग, वन मंडल कवर्धा की नर्सरी में अमरुद, कटहल, आम, जामुन, महुआ, बादाम, नींबू, बांस, आंवला, मुनगा, करंज, नीम, हर्रा, पपीता, सीताफल, बेल, गुलमोहर, पेलटाफॉर्म, सफेद शिरीष, केशिया, कचनार, अमलतास, अनार, अर्जुन, सागौन, बकैन, जंगल जलेबी, रामफल, कुल्लू, कुसुम, मुंडी, पीपल, शीशम, सिस्सू, इमली, बहेड़ा, आदि प्रजातियों के पौधे उपलब्ध हैं बैठक में अपर कलेक्टर जे. के. धु्रव, जिला पंचायत सीईओ विजय दयाराम के, अपर कलेक्टर ओ.पी. सिंह सर्व एसडीएम एवं जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button