तारिक अनवर ने थामा कांग्रेस का हाथ, पार्टी से दे दिया था इस्तीफा

चुनाव लड़ सकते हैं कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा

नई दिल्ली :

एनसीपी प्रमुख शरद पवार के एक बयान से नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा देने के बाद तारिक अनवर ने शनिवार को राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. ऐसा माना जा रहा है कि पार्टी में शामिल होने के बाद वो कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं. उन्हें लालू यादव की पार्टी से भी सहयोग मिलने की पूरी संभावना है.

28 सितंबर को तारिक अनवर ने एनसीपी की सदस्यता के साथ-साथ सांसद के पद से भी इस्तीफा दे दिया था. अनवर शरद पवार द्वारा राफेल डील मुद्दे पर प्रधानमंत्री का बचाव किए जाने से नाराज थे. पवार ने एक मराठी न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कहा था कि राफेल डील मुद्दे पर लोगों को प्रधानमंत्री के इरादों पर कोई शक नहीं करना चाहिए.

इसके बाद पवार की कही इस बात को अमित शाह से लेकर बीजेपी के कई नेताओं ने व्यापक रूप से कोट किया. तमाम नेताओं ने पवार के बयान को इस रूप में प्रस्तुत किया मानो विपक्ष के ही एक बड़े नेता पीएम मोदी को राफेल मामले में क्लीन चीट दे दी हो.

एक समय कांग्रेस में रहे तारिक अनवर की 19 साल बाद घर वापसी हो गई है. इसी पार्टी से अनवर ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी. 1976 में वे बिहार युवा कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे और 1980 में पहली बार कांग्रेस के टिकट पर कटिहार से सांसद बन लोकसभा पहुंचे थे.

Back to top button