Warning: mysqli_real_connect(): Headers and client library minor version mismatch. Headers:50562 Library:100138 in /home/u485839659/domains/clipper28.com/public_html/wp-includes/wp-db.php on line 1612
टेस्ट में नहीं खत्म होगी टाॅस : ICC कमेटी

टेस्ट में नहीं खत्म होगा टाॅस : ICC कमेटी

मुंबईः अनिल कुंबले की अगुवाई वाली आईसीसी की क्रिकेट समिति ने आज खेल के पारपंरिक प्रारूप से टाॅस हटाने के खिलाफ फैसला करते हुए इसे खेल का अभिन्न हिस्सा करार किया जिससे टेस्ट मैच में खेल से पहले बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण तय करने के लिए आगे भी सिक्के से फैसला हेागा। पूर्व भारतीय कप्तान की अगुवाई में समिति ने खिलाडिय़ों के व्यवहार के संबंध में सिफारिशें की और विश्व क्रिकेट संचालन संस्था से कड़े कदम उठाने तथा खिलाडिय़ों और प्रतिस्पर्धी टीम के बीच ‘सम्मान की संस्कृति’ को बरकरार रखने की वकालत की। इसने गेंद से छेड़छाड़ में शामिल होने के लिये कड़ी सजा की भी बात कही। हालांकि चर्चा के मुख्य बिंदुओं में से एक चर्चा का विषय यह था कि क्या टेस्ट मैचों के दौरान घरेलू हालात के फायदे को कम करने के लिए टॉस (दौरा करने वाली टीम को चुनने का अधिकार मिले) को खत्म कर दिया जाए।

टॉस मैच का अभिन्न हिस्सा
आईसीसी ने कहा, ‘‘समिति ने चर्चा की कि क्या टॉस का अधिकार सिर्फ दौरा करने वाली टीम के सुपुर्द कर दिया जाए लेकिन बाद में महसूस किया गया कि यह टेस्ट क्रिकेट का अभिन्न हिस्सा है जो खेल की शुरूआत में मैच की भूमिका तय करता है।’’ समिति में हालांकि पूर्व अंतरराष्ट्रीय कप्तान जैसे माइक गैटिंग , महेला जयवर्धने , मौजूदा अंतरराष्ट्रीय कोच माइकल हेसन (न्यूजीलैंड) और पूर्व आॅस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज और मैच रैफरी डेविड बून भी शामिल थे। ये सब इस बात पर सहमत थे कि मेजबान देश को विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप को ध्यान में रखते हुए बेहतर स्तर की पिचें तैयार करनी चाहिए।

टॉस हटाने को लेकर छिड़ गया था विवाद
इसके अनुसार, ‘‘टेस्ट पिचों को तैयार करना आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की प्रतिस्र्पिधता को जोखिम पैदा कर सकता है, यह बात स्वीकार करते हुए समिति ने सदस्यों से पिचों की गुणवत्ता पर ध्यान जारी रखने का आग्रह किया ताकि आईसीसी नियमों के अंतर्गत बल्ले और गेंद के बीच बेहतर संतुलन बनाया जा सके।’’ टॉस को हटाया जाना एक विवादास्पद मुद्दा बन गया था क्योंकि ज्यादातर पूर्व खिलाडिय़ों और हिस्सेदारों ने इसे नकारात्मक कदम बताया था। अंतिम दो दिन में ज्यादातर समय खिलाडिय़ों के बुरे बर्ताव पर चर्चा करने में निकला जिससे खेल पिछले कुछ समय से जूझ रहा है जबकि गेंद से छेड़छाड़ का मुद्दा भी अहम रहा। आस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और उप कप्तान डेविड वार्नर को दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण के कारण एक साल का निलंबन झेलना पड़ रहा है।

कुंबले ने कहा, ‘‘हमने खिलाडिय़ों के बर्ताव के मुद्दे को लेकर काफी अच्छी चर्चा की और मैं माइक गैटिंग और डेविड बून का हमसे जुडऩे और चर्चा में महत्वपूर्ण योगदान के लिये शुक्रिया करना चाहूंगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘समिति ने आईसीसी के मुख्य कार्यकारियों की समिति और आईसीसी बोर्ड की भावनाओं का समर्थन किया और हमने सम्मान की संस्कृति बनाने के लिये कई सिफारिशें की हैं।’’ आचार संहिता के संबंधित कुछ सुझाव इस प्रकार हैं – गेंद से छेड़छाड़ से जुड़े प्रतिबंध को बढ़ाना। अपमानजनक , व्यक्तिगत और आक्रामक अपशब्दों के लिए नए उल्लघंन बनाना। अनुचित फायदा उठाने का प्रयास करने के लिये नये अपराध को शामिल करने पर विचार करना। सम्मान संहिता बनाना। मैच रैफरी को किसी अपराध या उल्लघंन के स्तर को बढ़ाने या घटाने का अधिकार देना।

new jindal advt tree advt
Back to top button