2018 की तिमाही में टीसीएस के बेहतर नतीजे, आईटी शेयरों में दिखी रौनक

रुपए में गिरावट के बीच बीएसई का आईटी सूचकांक 4.8 प्रतिशत चढ़ा

मुंबई। टीसीएस ने अपने तिमाही लाभ में 4.5 प्रतिशत की तेजी दर्ज की है। कंपनी के नतीजों की घोषणा गुरुवार को बाजार बंद होने के बाद की गई थी। कंपनी की डिजिटल बिक्री 2017-18 में 4 अरब डॉलर के पार पहुंच गई, जबकि क्लाउड समेत विभिन्न सेवाओं से राजस्व में लगभग 43 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई है।

कंपनी के मजबूत वित्तीय नतीजे की वजह से अन्य आईटी शेयरों में भी तेजी दर्ज की गई। इन्फोसिस में 4 प्रतिशत और विप्रो में 2.31 प्रतिशत की तेजी आई। रुपए में गिरावट के बीच बीएसई का आईटी सूचकांक 4.8 प्रतिशत चढ़ा। रुपया गिरकर 13 महीने में अपने सबसे निचले स्तर पर आ गया है। विश्लेषकों का मानना है कि क्लाउड कंप्यूटिंग और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) घरेलू आईटी सेक्टर के लिए विकास के अगले बड़े अवसर हैं।

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टी.सी.एस.) द्वारा मार्च 2018 की तिमाही में उम्मीद से बेहतर आय दर्ज किए जाने की वजह से विश्लेषक इस कंपनी को लेकर उत्साहित नजर आ रहे हैं। लगभग आधा दर्जन विदेशी ब्रोकरेज कंपनियों ने इस शेयर के लिए अपना कीमत लक्ष्य 15 प्रतिशत तक बढ़ा दिया है। ब्रोकरों द्वारा कंपनी को अपग्रेड किए जाने से इसका शेयर लगभग 7 प्रतिशत तक चढ़कर 3,406 रुपए की नई ऊंचाई पर पहुंच गया। बाजार कारोबारियों का कहना है कि कंपनी द्वारा बोनस की घोषणा से भी निवेशक धारणा मजबूत हुई है।

वर्ष 2018-19 के लिए इन्फोसिस के निराशाजनक परिदृश्य की वजह से पिछले सप्ताह आईटी शेयरों में गिरावट दर्ज की गई थी। प्रभुदास लीलाधर में शोध विश्लेषक मधु बाबू ने एक रिपोर्ट में कहा, ‘टीसीएस ने मार्च 2018 तिमाही के लिए शानदार वित्तीय परिणाम दर्ज किया है। कंपनी को डॉलर राजस्व और कर बाद लाभ से मजबूती मिली है।’ प्रभुदास लीलाधर ने टीसीएस की शेयर कीमत के लक्ष्य को 20 प्रतिशत तक बढ़ाकर 3,380 रुपए कर दिया है।

new jindal advt tree advt
Back to top button