छत्तीसगढ़

शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल ने विधायक नायक को सौपा ज्ञापन,कोरोना ड्यूटी से मुक्त करने की मांग

विधायक प्रकाश नायक से शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल ने मिलकर कोरोना ड्यूटी से मुक्त करने की मांग करते हुए दिया ज्ञापन..विधायक ने तत्काल संज्ञान लेते हुए कलेक्टर को लिखा पत्र..!

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़ 25 जून। रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक से शिक्षकों का प्रतिनिधिमंडल मिलकर कोरोना वारियर्स एवं अन्य ड्यूटी पर लगाए गए शिक्षकों को आगामी 1 जुलाई से मुक्त करने का मांग किया गया है।

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के जिलाअध्यक्ष नेतराम साहू एवं शालेय शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष भोजराम पटेल सहित अन्य शिक्षकों के साथ रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक के निवास में पहुंच कर उन्हें आवेदन पत्र देते हुए आग्रह किया कि शिक्षकों की ड्यूटी एक्टिव सर्विलेंस, कांटेक्ट ट्रेसिंग, चेक पोस्ट, कोरोंटाइन सेंटर, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन आदि में लगातार लगाई गई।

कांटेक्ट ड्यूटी ट्रेसिंग टीम की ड्यूटी परिवर्तन विगत डेढ़ माह से नहीं की गई है। शिक्षकों के आवेदन पर विधायक प्रकाश नायक ने सकारात्मक पहल करते हुए कलेक्टर रायगढ़ को पत्र लिखकर शिक्षकों को कोरोना ड्यूटी से मुक्त करने हेतु आवश्यक कार्रवाई करने का आग्रह किया है।

विधायक प्रकाश नायक के इस पहल पर शालेय शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष भोजराम पटेल एवं छत्तीसगढ़ के जिला अध्यक्ष नेतराम साहू द्वारा विशेष रूप से धन्यवाद ज्ञापित कर कलेक्टर महोदय से अपेक्षा की गई है कि वह शिक्षकों को अति शीघ्र कोरोना ड्यूटी से मुक्त करेंगे।

स्कूलों में cgschool.in में वर्चुअल क्लास

शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल में नेतराम साहू, भोजराम पटेल, अरुण शर्मा ब्लाक महामंत्री टीचर्स एसोसिएशन रायगढ़, शिव डनसेना, श्रीमती शकुंतला इजारदार इत्यादि सक्रीय सदस्य उपस्थित रहे। वर्तमान में स्कूलों में cg school. in में वर्चुअल क्लास नियमित रूप से लिया जा रहा है वहीं अंकसूची देने, परीक्षा फल तैयार करने, स्थानांतरण प्रमाण पत्र देने के कार्य की वजह से शिक्षकों को कोरोना से संबंधित विभिन्न ड्यूटी से मुक्त किया जाना चाहिए।

दूसरी तरफ शिक्षक साथी बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन इत्यादि स्थानों पर बिना सुविधा सुरक्षा उपाय के स्वास्थ्य कर्मियों के साथ कोरोना से बचाव के लिए पिछले 2 -3 महीने से ड्यूटी कर रहे हैं उन्हें ना तो बीमा सुविधा का लाभ दिया जा रहा है और ना ही शासन की ओर से सुरक्षात्मक उपाय हेतु सुविधाएं उपलब्ध की जा रही है, इस परिस्थिति में उन्हें अवकाश के दिनों में ड्यूटी तो लिया जा चुका है परंतु अब भविष्य में उन्हें कार्य से मुक्त किया जाए।जिला शिक्षा अधिकारी से भी मिल कर दिया आवेदन :

शिक्षक संघ के प्रतिनिधियों द्वारा व्हाट्सएप स्कूल ग्रुप इत्यादि में 26 जून से स्कूलों में पूरे समय उपस्थित रहकर शिक्षकों को संस्था में पहुंचने संबंधी प्रसारित संदेश पर आवेदन देते हुए उक्त संदेश में भ्रम की स्थिति को समाधान करने हेतु आग्रह किया कि छत्तीसगढ़ शासन एवं स्वास्थ्य मंत्रालय के आदेश बगैर स्कूल खोला जाना उचित नहीं है क्योंकि बहुत से स्कूल कोरोंटाइन सेंटर बनाए गए हैं जहां मजदूरों को रखा गया है यदि शिक्षकों को स्कूल जाना अनिवार्य है तो लिखित आदेश प्रसारित करें एवं संस्था प्रभारी तथा स्कूल स्टाफ को ही स्कूल में रहने का संदेश जारी किया जाए।

जिला शिक्षा अधिकारी मनिन्द्र श्रीवास्तव ने यह कहा :

जिला शिक्षा अधिकारियों मनिन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि शिक्षकों को स्कूल जाने संबंधी आदेश जारी नहीं किया गया है। जिन स्कूलों के क्वारेंनटाइन सेंटर में प्रवासी मजदूर नही है उन स्कूलों की साफ सफाई, केवल परीक्षा संबंधी कार्यालयीन कार्य करने निर्देश दिया गया है।

कोरोना ड्यूटी से मुक्त करने शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल ने विधायक को सौपा ज्ञापन कोरोना ड्यूटी से मुक्त करने शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल ने विधायक को सौपा ज्ञापन कोरोना ड्यूटी से मुक्त करने शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल ने विधायक को सौपा ज्ञापन

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button