छत्तीसगढ़

राजभवन में सम्मानित हुए शिक्षक

शिक्षक दिवस के मौके पर टीचर ई पोर्टल का शुभारंभ

रायपुर। शिक्षक दिवस के खास मौके पर राजभवन में शिक्षक सम्मान समारोह को आयोजन हुआ। इस सम्मान समारोह में राज्य शिक्षक और राज्य स्तर शिक्षक पुरस्कार से 37 शिक्षकों का समेमान किया गया।

शिक्षकों को सम्मान में प्रशस्ति पत्र के साथ नगद राशि दिया गया। समारोह में शिक्षा मंत्री केदार कश्यप, विस अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, गौरव द्विवेदी शिक्षा सचिव, संसदीय सचिव अम्बेश जांगड़े, राजभवन के सचिव एस के जायसवाल शामिल हुए।

विधानसभा अध्यक्ष गौरी शंकर अग्रवाल ने पूर्व राज्यपाल को याद करते हुए कहा कि इस समारोह में उनकी कमी खल रही है। कार्यक्रम से शुरू होने से पहले उनके चरणों में नमन करता हूं, और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं, गौरी शंकर अग्रवाल ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी को भी दी श्रद्धांजलि।

उन्होने कहा कि राज्य स्तर पर जिन शिक्षकों को आज सम्मानित किया गया निश्चित रूप से उनका योगदान अनुकरणीय होगा। इन्हें देख अन्य शिक्षक भी प्रेरणा लेंगे और अगले साल वे भी इस सम्मान में शामिल होंगे। शिक्षकों का सम्मान आदिकाल से किया जा रहा है।

रायपुर की शिक्षिका को किया गया सम्मानित

इस दौरान गजानन माधव मुक्तिबोध स्मृति पुरस्कार से रायपुर की शिक्षिका को सम्मानित किया गया। वहीं कार्यक्रम में हाईस्कूल के बच्चों को 25 से 50 हजार रुपए पुरस्कार राशि देने की घोषणा की गई। प्राइमरी स्कूल में 10 से 20 हजार माध्यमिक स्कूल में 15 से 20 हजार सर्वोच्च शाला सम्मान राशि में वृद्धि की गई है।

टीचर ई पोर्टल का शुभारंभ

आज इस अवसर पर टीचर ई पोर्टल का शुभारंभ किया। ई पोर्टल देश के 4 राज्यो में संचालित है। आज 5 वें राज्य के रूप मे छत्तीसगढ़ में पोर्टल को शुरू किया गया।

गुरुजनों को जितना होगा सम्मान उतना बढ़ेगा शिक्षकों का मनोबल

मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि उत्कृष्ट कार्यों के लिए उन्हें आज सम्मानित किया जा रहा है। उन्हें मैं शुभकामनाएं देता हूं। सभी शिक्षक और सम्मानित स्कूल के सम्मान से शिक्षा जगत का गौरव बढ़ा है।

इससे अन्य शिक्षक और स्कूल प्रेरणा लेंगे। गुरुजनों को जितना सम्मान होगा उतना ही शिक्षकों का मनोबल बढ़ेगा। इसीलिए हमने राज्य स्तरीय सम्मान की शुरुआत की है।

बीहड़ इलाकों में विद्या मितान के तहत शिक्षा से जोड़ने का काम

सरगुजा, जशपुर और अन्य बीहड़ इलाकों में सरकार ने विद्या मितान के तहत उन्हें शिक्षा से जोड़ने का काम किया है और यही वजह है कि इन क्षेत्रां से बच्चे डॉक्टर इंजीनियर और प्रशासनिक सेवा में जा रहे है।

इस सत्र में अधिक संख्या में स्कूलों की स्वीकृति की गई है। 1 किलोमीटर की परिधि पर प्राइमरी स्कूल है पर 5 किलोमीटर की परिधि पर हाईस्कूल और 7 किलोमीटर की परिधि पर हायर सेकेंडरी स्कूल यहां मौजूद हैं। आप लोगों के प्रयास से ही बच्चे सफल होंगे

Summary
Review Date
Reviewed Item
राजभवन में सम्मानित हुए शिक्षक
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags
Back to top button