फिंच और वॉर्नर क्रीज पर, शमी-उमेश को नई गेंद का जिम्मा

टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज का चौथा मुकाबला बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जा रहा है. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने 3 ओवर में 0 विकेट गंवा कर 19 रन बना लिए हैं डेविड वॉर्नर (11 रन) और आरोन फिंच (8 रन) क्रीज पर हैं.

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है और टीम इंडिया को पहले गेंदबाजी दी है. ऑस्ट्रेलिया की टीम में दो बदलाव हुए है. ग्लेन मैक्सवेल और एश्टन एगर टीम से बाहर है, उनकी जगह मैथ्यू वेड और एडम जाम्पा को टीम में शामिल किया गया है. वहीं टीम इंडिया में तीन बदलाव हुए हैं कुलदीप यादव, जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार टीम से बाहर है. उनकी जगह उमेश यादव, मोहम्मद शमी और अक्षर पटेल टीम में शामिल हैं.

विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम सीरीज में पहले ही 3-0 से अजेय बढ़त ले चुकी है. टीम इंडिया ने उसे बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग हर मोर्चे पर पछाड़ा है.टीम इंडिया सीरीज जीत चुकी है, लेकिन फिर भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसकी आक्रामकता में कोई कमी नहीं आएगी. भारतीय टीम क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट्स में बेहतरीन प्रदर्शन कर रही है. चेन्नई, कोलकाता और इंदौर में जिस तरह टीम इंडिया ने प्रदर्शन किया है, उसे देखकर लगता है कि चौथे वनडे में उसे जीत से रोकना आसान नहीं होगा.

बेंगलुरु में टीम इंडिया का रिकॉर्ड शानदार

टीम इंडिया ने बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में अबतक 19 मैच खेले हैं जिनमें से 13 मैचों में उन्हें जीत मिली है और 4 मैचों में विराट ब्रिगेड को हार का मुंह देखना पड़ा है. इसके अलावा एक मैच बेनतीजा जबकि एक मैच टाई रहा है.

विराट ब्रिगेड में है दम
टीम इंडिया की ओपनिंग जोड़ी अब लय हासिल कर चुकी है. इंदौर वनडे में रोहित ने 71 रनों की पारी खेली, जबकि रहाणे ने 70 रन बनाए. कप्तान विराट कोहली भी शानदार फॉर्म में है, ऐसे में उनकी नजर अपने आईपीएल होम ग्राउंड पर शानदार शतक जड़ कर रिकी पोंटिंग के रिकॉर्ड की बराबरी करने पर होगी. मिडिल ऑर्डर में हार्दिक पंड्या नंबर-4 पर बल्लेबाजी करते हुए हिट साबित हुए हैं.

पंड्या इस सीरीज में अब तक सबसे ज्यादा रन बना चुके हैं, जो टीम इंडिया के लिए बहुत सकारात्मक संकेत हैं. इसके अलावा अनुभवी धोनी का एक छोर पर खड़े रहकर टीम को संभालना टीम के लिए बहुत उपयोगी रहा है. धोनी पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ बैटिंग करने में माहिर हैं और वो आखिर में टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाने में मदद करते हैं.

Back to top button