टीम इंडिया ने अपने नाम कर लिया है इंटरनेशनल क्रिकेट में अनोखा रिकॉर्ड

इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में नहीं खेल पाए थे और टीम को इस मैच में हार झेलनी पड़ी थी।

वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर को कुछ दिनों पूर्व इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में टीम के स्लो-ओवर रेट का खामियाजा भुगतना पड़ा था।

उन पर एक मैच का बैन लगा जिसकी वजह से वे इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में नहीं खेल पाए थे और टीम को इस मैच में हार झेलनी पड़ी थी।

इंटरनेशनल क्रिकेट लंबे समय से स्लो-ओवर रेट की समस्या से जूझ रहा था और अप्रैल 2003 में इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने कड़ा कदम उठाते हुए इस मामले में कप्तान को बैन करने का नियम लागू किया।

स्लो-ओवर रेट के उल्लंघन के बिना लगातार सबसे ज्यादा मैच खेलने का रिकॉर्ड टीम इंडिया के नाम दर्ज है।

क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग, भारत के सौरव गांगुली और द. अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ के नेतृत्व में सबसे ज्यादा ओवरों का नुकसान हुआ।

पोंटिंग ने 287 मैचों में टीम की कमान संभाली और 36 ओवर कम डाले गए। स्मिथ ने 286 मैचों में टीम की कमान संभाली और 34 ओवर कम डाले गए।

इसी तरह गांगुली ने अप्रैल 2003 के बाद 64 मैचों में टीम की कमान संभाली और इस दौरान 31 ओवर कम डाले गए।

अगस्त 2014 के बाद से भारत ने नहीं किया नियम का उल्लंघन :

बिना स्लो-ओवर रेट के उल्लंघन के सबसे ज्यादा मैच खेलने का रिकॉर्ड टीम इंडिया के नाम दर्ज है।

भारत ने 15 अगस्त 2014 के बाद से 10 फरवरी 2019 तक लगातार 216 मैच बिना स्लो-ओवर रेट के उल्लंघन के खेले।

भारत के साथ पिछली बार ऐसा 2014 में ओवल में हुआ था। भारत ने यह रिकॉर्ड इसलिए बनाया क्योंकि उसका जोर स्पिनरों पर रहता है और तेज गेंदबाज भी प्रभावी प्रदर्शन कर रहे हैं।

बांग्लादेश 13 अप्रैल 2008 से 9 मार्च 2015 तक 190 मैच बिना इस नियम के उल्लंघन के खेला था।

ऑस्ट्रेलिया ने 2 नवंबर 2009 से 8 जून 2013 तक 165 मैच बिना स्लो-ओवर रेट के उल्लंघन के खेले।

क्या है नियम :

टेस्ट मैच में प्रति घंटे 15 ओवर डालने होते हैं। वनडे में टीम को साढ़े तीन घंटे में 50 ओवर डालना होते हैं।

टी20 मैच में 90 मिनटों के अंदर 20 ओवर पूरे करने होते हैं। इसमें विभिन्न अलाउंसेस जैसे चोट की वजह से समय लगना, डीआरएस रिव्यू, साइटस्क्रीन की समस्या, लंबे ड्रिंक्स ब्रेक आदि को ध्यान में रखा जाता है।

Back to top button