कांग्रेस बताए देश को कमजोर रखने के पीछे किसका हित था : भाजपा

रायपुर। अंतरिक्ष में उपग्रह नष्ट करने की क्षमता विकसित करने के बाद यह खुलासा होने पर कि यूपीए सरकार ने इस मिशन को मंजूरी नहीं दी थी, भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस से सवाल किया है कि देश को कमजोर रखने के पीछे आखिर किसका हित था? भाजपा ने डी आर डी ओ के तत्कालीन प्रमुख वीके सारस्वत द्वारा यह स्पष्ट किए जाने पर कि अंतरिक्ष मिशन की तैयारी थी लेकिन तब की सरकार ने इसकी इजाजत नहीं दी थी। भाजपा ने कहा है कि आखिर क्या वजह थी की कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार देश को कमजोर बनाए रखना चाहती थी।

भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी डॉ. अनिल जैन ने कहा है कि हमारे वैज्ञानिक सामर्थ्यवान हैं लेकिन कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार न जाने कौन से स्वार्थों के कारण देश को कमजोर बनाए रखने की नीतियों पर कायम रही। मोदी राज में सामरिक दृष्टि से अंतरिक्ष में चौथी महाशक्ति बने भारत की जनता यह जानना चाहती है कि कांग्रेस की सरकार ने अपने कार्यकाल में ऐसा क्यों नहीं होने दिया? जनता यह भी जानना चाहती है कि आखिर क्यों भारत को विश्व शक्ति बनने की राह में कांग्रेस की सरकार ने रोड़े अटकाए?

प्रदेश प्रभारी श्री जैन ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा देश के स्वाभिमान से समझौता किया है और भारत को विश्व शक्ति बनने से रोकने का काम किया है। इतिहास गवाह है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की सरकार में परमाणु क्षमता हासिल कर भारत को महाशक्ति बनाने की दिशा में अभूतपूर्व कदम उठाया गया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अब भारत अंतरिक्ष में विश्व की चौथी महाशक्ति के रूप में अपना नाम दर्ज करा चुका है।

मिशन शक्ति की सफलता के बाद कांग्रेस में मातम है। देश की स्वर्णिम सफलता पर गर्व करने के बजाय आतंकवादियों की संरक्षक कांग्रेस कुपित है। भारत के शौर्य पर सवाल उठाने वाले कांग्रेसी अब मिशन शक्ति की सफलता पर बौखलाकर तथ्यहीन तर्क देते हुए श्रेय लूटने की कोशिश कर रहे हैं। देश के पिछड़ेपन की जिम्मेदार कांग्रेस आज संपूर्ण विश्व में भारत की जय-जयकार पर ईर्ष्या कर रही है जबकि राष्ट्र गौरव के इन क्षणों में उसे अपनी गलत नीतियों के लिए प्रायश्चित करते हुए देश के साथ खड़ा होना चाहिए। लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा और देश हित के मुद्दों पर राजनीति करने वाली कांग्रेस अब भी ओछी सोच का प्रदर्शन कर रही है।

Back to top button