अभी तक तय नहीं हुआ 102 एम्बुलेंस के संचालन का जिम्मा, 25 मार्च को खोला गया था टेंडर

शिकायत के बाद मामले की जांच तो स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए जाने की बात की जा रही

रायपुर: प्रदेश में 102 एम्बुलेंस के संचालन के लिए स्वास्थ्य विभाग में सालभर से प्रक्रिया चल रही है। इसमें करीब 350 एम्बुलेंस का संचालन एजेंसी के माध्यम से किया जाना है। मगर, विभाग अब तक संचालन का जिम्मा किसे देना है, यह तय नहीं कर पाया है।

जानकारी के अनुसार, 102 एम्बुलेंस संचालन के लिए विभाग द्वारा 25 मार्च 2021 को टेंडर खोला गया था। इसमें जिस एल-1 कंपनी को संचालन के लिए चिह्नित किया गया। उस कंपनी को एनटीपीसी द्वारा पहले ही ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया है। उसकी शिकायत स्वास्थ्य विभाग में की गई है। साथ ही कंपनी पर फर्जी शपथ पत्र भरकर टेंडर प्रक्रिया में भाग लेने का आरोप भी लगा है।

शिकायत के बाद मामले की जांच तो स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए जाने की बात की जा रही है। मगर, जांच प्रक्रिया धीरे होने से संचालन व्यवस्था प्रभावित हो रही है। इधर, कंडम वाहनों के भरोसे 102 का संचालन होने और व्यवस्था प्रभावित होने के कारण 112 और 108 पर इसका अतिरिक्त भार पड़ रहा है।

नतीजा महामारी काल में कई मरीजों को समय पर शासकीय एम्बुलेंस सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है। इसकी लगातार शिकायत भी स्वास्थ्य विभाग के पास पहुंच रही है।

यह भी नियम :

विभागीय जानकारी के अनुसार प्रक्रिया में एल-1 कंपनी अगर ब्लैक लिस्टेड है तो एल-2 को संचालन की स्वीकृति दी जानी है। लेकिन जांच की कार्रवाई प्रभवित रहने से संचालन का जिम्मा किसे यह भी तय नहीं हुआ है। दता दें कि अब तक पांच बार टेंडर प्रक्रिया असफल रही है।

रिपोर्ट के बाद जल्द पूरी करेंगे प्रक्रिया

102 एम्बुलेंस संचालन के लिए टेंडर प्रक्रिया की गई थी। एल-1 कंपनी के ब्लैक लिस्टेड होने की शिकायत के बाद विभागीय जांच चल रही है। रिपोर्ट आने के बाद जल्द प्रक्रिया पूरी करेंगे।
– डॉ एसके बिंझवार, प्रभारी अधिकारी 108, 102, स्वास्थ्य विभाग

cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button