छत्तीसगढ़

कोरोना संकट काल मे भी शहर में सूदखोरों का आतंक

बगैर लायसेंस के इस अवैध धंधे को संचालित करने लेते है मसल पावर का सहारा

भरत मंगवानी

बिलासपुर : सम्बंधित थाना क्षेत्रों में सूदखोरों की रहती है तगड़ी सेटिंग इसलिए पीड़ित कार्यवाही करने से भयभीत रहता है शहर में एक तरफ कोरोना महामारी के संकट के दौर में लोगो की आर्थिक स्थिति पहले जैसे नही रही,

कोरोना महामारी के कारण लोग घरों से कम ही निकलते है जिसका असर शहर के व्यापार पर भी पड़ता है अब व्यापार पहले जैसा नही रहा ,पर कुछ लोग ऐसे है जिन्हें कोरोना से कोई मतलब नही है उन्हें जरूरी है सिर्फ अपने ब्याज के पैसों से शहर के मध्य हर गली मुहल्ले के दुकानदार डेली ब्याज पर रकम चलाने वालों के चंगुल में बुरी तरह फंसे हुए है

महीना 10 प्रतिशत तक ब्याज में सूदखोर अपनी रकम शहर के व्यापारीयो को देते है,पर कोरोना महामारी के संकट की इस घड़ी में व्यापारीयो का व्यापार पहले जैसा नही रहा उन्हें रियायत देने की बजाय शहर के सूदखोर मसल पावर का इस्तेमाल करके वसूली करने में लगे हुए है,

पीड़ित भी थानों में सूदखोरों के खिलाफ कुछ शिकायत करने से भयभीत रहते है,प्रशासन को ऐसे अवैध ब्याज का धंधा करने वालो पर कानून का डंडा चलाकर कड़ी कानूनी कार्यवाही करना जरूरी है..

Tags
Back to top button