आतंकी हमले के लिए 4 माह के बच्चे को बना दिया बम

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि आतंकियों ने किसी नापाक हरकत को अंजाम देने के लिए बच्चों का इस्तेमाल किया हो

आतंकी हमले के लिए 4 माह के बच्चे को बना दिया बम

अफगानिस्तान में बम हमले की दिल दहलाने वाली साजिश का पर्दाफाश हुआ है। एक आतंकी संगठन ने हमले के लिए 4 महीने के बच्चे को मोहरा बनाते उसे ही बम बना दिया। दरअसल आतंकियों ने मासूम के कपड़े में विस्फोटक छिपा दिया था। अच्छी बात यह रही कि पुलिस ने वारदात को अंजाम देने से आतंकियों को रोक लिया। पुलिस के अनुसार, घटना की साजिश रचने में तालिबान के 4 पुरुष, एक महिला और एक बच्चा शामिल था।
[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]
स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बम आतंकियों में शामिल लड़के के पास था। हालांकि, अभी तक आधिकारिक तौर पर यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि वह इस हमले में नवजात को मारना चाहते थे या नहीं। अफगानिस्तान में मानवाधिकार आयोग के उपाध्यक्ष सविता अब्दुल रहिजाई ने इस नाकाम की गई साजिश को बर्बर और क्रूर बताया है।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि आतंकियों ने किसी नापाक हरकत को अंजाम देने के लिए बच्चों का इस्तेमाल किया हो। बीते साल भी एक 7 साल के बच्चे की वीडियो क्लिप सामने आई थी, जो सुसाइड वेस्ट (विस्फोटक से लगी जैकेट) पहने था। कैमरे में देखते हुए एक सैनिक ने बताया कि लड़के को उसके अंकल ने भेजा था और उसे सेना पर हमला बोलने के निर्देश दिए थे।

बता दें कि एक दिन पहले ही यानि 27 जनवरी को मध्य काबुल के सिदारत स्क्वायर के नजदीक विस्फोट में तकरीबन 110 लोगों की जान गई। धमाके में इसके अलावा 163 से अधिक लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना को अंजाम देने के लिए बम एंबुलैंस में छिपाया गया था।

advt
Back to top button