राष्ट्रीय

21 साल पुराना बिजनेस होगा खत्म, बंद हो रही ये नामी फोन कंपनी

नई दिल्‍लीः टाटा ग्रुप ने सरकार को शुक्रवार को अपने वायरलेस बिजनेस को बंद करने की योजना से अवगत कराया। टाटा ग्रुप के 21 साल पुराने फोन सर्विस वेंचर अब खत्‍म होने जा रहा है। टाटा ग्रुप के चीफ फाइनेंशियल ऑफि‍सर सौरभी अग्रवाल और टाटा टेलीसर्विसेस के मैनेजिंग डायरेक्‍टर एन श्रीनाथ दोनों ने डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्‍यूनिकेशंस के अधिकारियों से मुलाकात की और अपने मौजूदा स्‍पेक्‍ट्रम को सरेंडर या बेचने के रास्‍तों पर चर्चा की। टाटा टेली के पास सरकार द्वारा प्रशासनिक तरीके से दिया गया स्‍पेक्‍ट्रम है और कुछ स्‍पेक्‍ट्रम कंपनी ने हाल के वर्षों में नीलामी के जरिये खरीदा है।

टाटा टेलीसर्विसेस एक लिस्‍टेड कंपनी है और यह भारत में 19 सर्किल में परिचालन कर रही है। टाटा ग्रुप के 149 साल के इतिहास में बंद होने वाली यह पहली बड़ी यूनिट होगी। टाटा टेलीसर्विसेस की स्‍थापना 1996 में लैंडलाइन ऑपरेशन के साथ की गई थी। इसने 2002 में सीडीएमए ऑपरेशन लॉन्‍च किया था। इसके बाद 2008 में इसने जीएसएम तकनीक को अपनाया और एनटीटी डोकोमो से 14,000 करोड़ रुपए का निवेश हासिल किया। जापान की एनटीटी डोकोमो ने 2014 में इस ज्‍वाइंट वेंचर से बाहर निकलने का फैसला किया।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.