प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राशि तो मिली लेकिन मकान बनाने कि अनुमति नहीं

अब पीड़ित महिला लगा रही है अधिकारियों के चक्कर

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राशि तो मिली लेकिन मकान बनाने कि अनुमति नहीं

रायपुर : सरकार ने कच्चे मकानों में रहने वालों को पक्का घर देने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हर गरीब को घर देने का लक्ष्य रखा है. लेकिन सरकार का ये लक्ष्य ऐसे में तो पूरा नहीं हो सकता है जिस तरह से शिकायते आ रही हैं .

आरंग ब्लाक से लगे टेकारी गाँव में एक अल्पसंख्यक महिला को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राशि स्वीकृत होने के बाद भी मकान नहीं बनाने देने का मामला सामने आया है.

पीड़ित महिला हसीना खान टेकारी गाँव कि रहने वाली है लेकिन उसे उसके गाँव में इस योजना के तहत मकान नहीं बनाने दिया जा रहा है.

पीड़ित महिला ने आरोप लगाया है कि पहले तो उसे घर बनाने के लिए पहले के मकान को तोड़ने कहा गया और जब उन्होंने ऐसा किया उसके बाद गाँव के सरपंच ने उसे वहां मकान बनाने से रोक दिया.

महिला ने बताया कि सरकार की ओर से उसे एक किश्त कि राशि भी मिल चुकी है जिसके चलते उन्होंने अपना काम शुरू कराया था लेकिन ग्रामीणों ने इसका विरोध कर दिया.

महिला का कहना है कि अब उसने इसकी शिकायत कलेक्टर से लेकर सीएम तक के पास कर चुकी है लेकिन अब तक कुछ नहीं हो सका है.

Back to top button