मंडी प्रबंधन की मनमानी, अव्यवस्था का शिकार थोक सब्जी भंडार

नगर पालिका के मौन रहने का खामियाजा भुगत रहे व्यापारी

मुंगेली: मंडी प्रबंधन व नगर पालिका के आपसी सामंजस्य अभाव का खामियाजा वर्षो से थोक सब्जी व्यपारियों को भुगतना पड़ रहा है। जहाँ अभी थोक सब्जी बाजार नगर पालिका लगा रही है वहां के रास्ते भी निजी लोगों के हैं लेकिन शहर में अव्यवस्था ना जो इस लिए उनके द्वारा रास्ता बंदी नहीं किया गया है, मगर मंडी प्रबंधन थोक सब्जी बाजार को अपने परिसर में नहीं लिया है जिससे ही अब तक यह अव्यवस्था बनी हुई है। कहने को तो मुंगेली जिला है मगर थोक सब्जी बाजार किसी मछली बाजार से कम नहीं ।

नगर पालिका द्वारा सारी अव्यवस्थोें के बावजूद नए -नए शुल्क ले रही है। शासन के नियमों अनुसार सब्जी एवं फल मंडी का संचालन मंडी प्रबंधन को ही करना है मगर वर्षो से मंडी प्रबंधन इस गंभीर मामले को अनदेखी कर रही है. जिससे थोक सब्जी व्यापारियों में भयंकर आक्रोश है।

थोक सब्जी व्यापारियों द्वारा इसके निराकरण के लिए अनेकों बार जिला प्रशासन व नगर पालिका से पहल की गई मगर अब तक नतीजा नहीं निकला । जिसके चलते आज तक आज तक जहां चिल्हर सब्जी मार्केट प्रस्तावित है वही थोक सब्जी मार्केट लगाया जा रहा है। चिल्हर सब्जी मार्केट के शहर बाहर नहीं होने से भी ट्रैफिक व्यवस्था चरमराई हुई है. हृदय स्थल गोलबाजार में बेतरतीब वाहनों के खड़े रहने से किसी भी समय जाम की स्थिति बन जाती है।

मंडी प्रबंधन की इस मामले में अपनी अलग दलील है उनका कहना है -हमने थोक सब्जी फल विक्रय के लिए जगह की कमी होने के कारण जगह मांगी जगह का चयन रामगढ़ में फरवरी 2010 को 5 एकड़ किया गया, मगर बाद में आनन फानन में वह स्थल 100 बिस्तर वाले अस्पताल के लिए चयनित कर लिए गया। इसके बाद सालों सब्जीमंडी के लिए जगह खंगालते रहे अब 2015 को पुनः रायपुर मार्ग पर ग्राम कामता शासकीय भूमि 5 एकड़ मांग की गई किंतु अब आबंटन में नगर निवेश की ओर से अटका दिया गया। कुलमिलाकर प्रशासन मंडी प्रबंधन को अब तक जगह की कमी के चलते मांगी जा रही जमीन ना दिए जाने के कारण थोक सब्जी बाजार का मामला अभी तक लटका हुआ ही है।

कृषि उपज मंडी के सचिव बघेल का कहना है हमने स्थल की कमी के कारण जमीन की मांग की है। एसडीएम सुमित अग्रवाल का कहना है थोक सब्जी के लिए शासन से स्थल का प्रस्ताव भेज मांग की गई है स्वीकृति आने पर व्यवस्था की जाएगी।
<>

Back to top button