छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ की माटी की सौंधी खुशबू और स्वाद पूरी दुनिया में और अधिक फैलेगा: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री ने गोयल ग्रुप द्वारा निर्मित फ्रोजन फूड प्रोडक्ट ‘‘गोल्ड‘‘ की विदेश भेजी जाने वाली पहली कन्साइनमेंट को हरी झंडी दिखाकर न्यूजीलैंड रवाना किया

छत्तीसगढ़ के खाद्य प्रोसेसिंग उद्योग में तैयार फ्रोजन फूड प्रोडक्ट की पहली खेप भेजी गई विदेश

रायपुर, 22 जनवरी 2021 : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास से छत्तीसगढ़ के खाद्य प्रोसेसिंग उद्योग गोयल ग्रुप द्वारा निर्मित फ्रोजन फूड प्रोडक्ट ‘‘गोल्ड‘‘ की विदेश में जाने वाली पहली कन्साइनमेंट को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि यह अत्यंत हर्ष की बात है कि छत्तीसगढ़ का स्वाद अब विदेश में भी चखा जाएगा। राज्य के बाहर देश-विदेश में भी छत्तीसगढ़ की माटी की सौंधी महक और स्वाद का जादू और अधिक छायेगा। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत ठीक छः महीने पूर्व कोरोना संकटकाल में हुई थी और इतने कम समय में एक नया उत्पाद छत्तीसगढ़ से देश के बाहर न्यूजीलैंड भेजा जा रहा है, मैं इसके लिये गोयल ग्रुप ऑफ कंपनी को बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूँ । इससे छत्तीसगढ़ का नाम देश और विदेश में और अधिक रौशन होगा, यह हमारे लिए गर्व की बात है। मुख्यमंत्री बघेल ने इस अवसर पर कम्पनी के चेयरमैन सुरेश गोयल सहित ग्रुप से जुड़े सभी लोगों को बधाई और शुभकामनायें दी।

मैनेजिंग डायरेक्टर राजेन्द्र गोयल ने बताया

गोयल समूह के मैनेजिंग डायरेक्टर राजेन्द्र गोयल ने बताया कि मुख्यमंत्री बघेल के हाथों 9 जून को छत्तीसगढ़ की पहली फ्रोजन फूड इकाई का शुभारंभ किया गया। कोरोना संकट के दौर में प्रारंभ हुये इस इकाई ने हजारों लोगों को रोजगार दिया है, जिसमें लगभग 60 प्रतिशत महिलाएं हैं। उन्होंने बताया कि बहुत जल्द छत्तीसगढ़ की माटी की महक लिए गोल्ड की यह फ्रोजन फूड रेंज अमेरिका, कैनेडा, मालदीव, रशिया, मॉरिशस समेत मिडिल ईस्ट के बाजारों में भी अपनी पहचान बनाएगा। इस उत्पाद को FSSAI, USFDA, HALAL, FSSC 20-2000, BRCGS जैसे राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों से लायसेंस प्राप्त होने के साथ ही फूड ऑडिट, क्वालिटी और सेफ्टी स्टैंडर्ड को भी ए-ग्रेड मिला है । इस अवसर पर गोयल समूह के चेयरमैन सुरेश गोयल, मैनेजिंग डायरेक्टर राजेन्द्र गोयल,बजरंग एलियांज लिमिटेड के डायरेक्टर अर्चित गोयल भी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button