चूल्हे पर रोटियां सेंक रहे बीजेपी नेता, जनता ने पूछा- क्या फेल हो गई उज्ज्वला योजना?

मौसम चुनाव का है तो नेता चुनावी रोटी सेंकने से बाज नहीं आ रहे हैं.

नई दिल्ली। राजस्थान में बीजेपी के नेता चुनाव प्रचार के दौरान चूल्हे पर रोटी बनाते और आटा गूंथते दिख रहे हैं. इन नेताओं को चुनाव प्रचार के दौरान रोटी सेंकते देखकर जनता कह रही है कि क्या मोदी जी की उज्ज्वला योजना फेल हो गई है, जो उम्मीदवार गैस चूल्हे पर नहीं बल्कि आग पर रोटियां सेक रहे हैं.

मौसम चुनाव का है तो नेता चुनावी रोटी सेंकने से बाज नहीं आ रहे हैं. चुनाव प्रचार पर निकली कोटा की पूर्व महारानी कल्पना सिंह एक गरीब के घर में घुसकर उसके चूल्हे के पास बैठकर रोटी बनाने लगीं.

कल्पना सिंह टिकट मिलने के 3 घंटे पहले कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुईं थी. कल्पना सिंह से जब सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि एक बार चुनाव जीतने की देर है इसके बाद सबको गैस चूल्हे पर हीं खाना बनवाएंगी.

नेता कहीं रोटी सेंक रहे हैं तो कई महिलाओं के बीच डांस कर रहे हैं. इसी तरह से सचिन पायलट के खिलाफ टोंक से बीजेपी के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे यूनुस खान भी चुनाव प्रचार के दौरान खुद को गरीब साबित करने के लिए झोपड़ी में घुसकर रोटी बना रहे हैं.

यूनुस खान कहते हैं कि वह अपनी गरीबी में आटा भी गूंथते थे और रोटी भी बनाते थे. यूनुस खान ने कहा कि पायलट महाराज हैं वे सेवक हैं.

उन्होंने कहा कि यह लड़ाई महाराज और सेवक के बीच है, लेकिन चूल्हे पर रोटी बनाने की बात को लेकर सवाल उठने पर कह रहे हैं कि सिलेंडर लोगों के पास है लेकिन चूल्हे की आदत गई नहीं है. यूनुस खान ने कहा कि आदत है तो धीरे-धीरे ही जाएगी.

Back to top button