Uncategorizedछत्तीसगढ़

शहीदो के पार्थिव शरीर पुलिस लाइन में रखे रहे और बीजेपी मंत्री नाचने गाते रहे – कांग्रेस

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष,विधानसभा अध्यक्ष, वरिष्ठ मंत्री गण, विधायकों ने जवानों की शहादत का मजाक उड़ाया है - विकास तिवारी

रायपुर : जवानों की सुकमा में शहादत हुई और दोपहर से रात तक भाजपा नेता फूल-माला पहनकर फटाखा फोड़ गाजे बाजे के साथ जनसंपर्क में मशगुल थे।छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा है कि कल जहां एक ओर सुकमा में नक्सली हमलों में सीआरपीएफ के 9 जवानों की शहादत हो गयी, दोपहर तक जवानों का पार्थिव शरीर घटना स्थल से उठाया नहीं गया था,घायल जवान अस्पताल नहीं पहुंच पाये थे,वहीं दूसरी ओर पूरे प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी द्वारा जनसंपर्क यात्रा किया जा रहा था, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने बिल्हा विधानसभा के ग्राम खुड़ियाडीह, बोडसरा, दुर्गडीह, केनरी, पिरैया एवं सखाबी में जनसंपर्क यात्रा किया।

विधानसभा अध्यक्ष कसडोल विधायक गौरीशंकर अग्रवाल अपने विधानसभा क्षेत्रों में बाजा-गाजा, फूलमालाओं, रंग-गुलाल और ढोल-नगाड़ों के साथ अपना स्वागत सत्कार कर जनसंपर्क पदयात्रा कर रहे थे।

वरिष्ठ मंत्री बृजमोहन अग्रवाल रायपुर दक्षिण के सदर बाजार, ब्राम्हणपारा, कंकालीपारा, महामाया मंदिर वार्ड में, मंत्री अमर अग्रवाल ने बिलासपुर में, मंत्री अजय चंद्राकर कुरूद विधानसभा में, संसदीय सचिव, विधायक रूपकुमारी चैहान देवसराल, बड़े-टेमरी, सांकरा, सागुणढाप, धरमपुर एवं बगादरहा में जनसंपर्क पदयात्रा की, पामगढ़ विधानसभा में ग्राम बर्रा में संसदीय सचिव, विधायक अम्बेश जांगड़े ने पदयात्रा की, खेल, श्रम युवा विभाग के मंत्री भैयालाल रजवाड़े पदयात्रा कर रहे थे। जवानों की शहादत से इन भाजपा के नेताओं को कोई सरोकार नहीं है।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा है कि प्रदेश भाजपा की इन हरकतों, स्वागत सत्कार, फटाखे-बाजी, पार्टी का प्रचार-प्रसार से पूरे देश में छत्तीसगढ़ को शर्मसार होना पड़ा है, अगर भाजपा के कार्यकर्ता ये कृत्य करते तो उसे भूल माना जा सकता था परंतु प्रदेश के मुखिया धरमलाल कौशिक, विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, अमर अग्रवाल सहित संसदीय सचिव सहित विधायकों ने पदयात्रा के दौरान ढोल-तासे बजवाये और अपना स्वागत सत्कार करवाया।

शहीद जवान का पार्थिव शरीर रात्रि को राजधानी रायपुर के पुलिस लाईन में अंतिम दर्शन एवं श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिये रखी गयी थी और दुर्भाग्यजनक बात है कि चंद कदमों की दूरी पर भाजपा के वरिष्ठ मंत्री ढोल-ताशो, रंग-गुलाल, फूल मालाओं से लदकर जनसंपर्क यात्रा कर रहे थे।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि संघ और भाजपा के नेता सेना के जवानों की शहादत पर घड़ियाली आंसू भी नहीं बहायें क्योकि उनके अपने विधानसभा में चल रहे जनसंपर्क पदयात्रा की चिंता सता रही थी।

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री रमन सिंह को देश की जनता को यब बताना चाहिये कि सुकमा में नक्सलियों द्वारा सीआरपीएफ के 9 जवानों की शहादत के समय जबकि उनका पार्थिव शरीर सुकमा की ही माटी पर पड़ा था, घायल जवान घटना स्थल पर ही थे तो उनकी पार्टी के अध्यक्ष, विधानसभा अध्यक्ष, मंत्रीगण एवं विधायक गण शहादत के समय खुशियां क्यों मना रहे थे? ढोल-बाजा क्यों बजा रहे थे? रंग-गुलाल क्यों उड़ा रहे थे और मां भारती के वीर शहीद जवानों के परिजनों पर क्या गुजरी होगी जब वो भाजपा के इस घिनौने चेहरे को देखे होंगे।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *