कलकत्‍ता हाईकोर्ट में आज होगी रथ यात्रा को लेकर चल रहे गतिरोध पर सुनवाई

BJP की याचिका पर आएगा फैसला

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल में बीजेपी की प्रस्तावित रथयात्रा के मुद्दे पर कलकत्ता हाईकोर्ट आज फैसला सुनाएगी। अदालत ने इस मामले की सुनवाई बुधवार को भी की थी। उस दौरान कोर्ट की एकल पीठ ने कहा कि बीजेपी के वकीलों को अपनी अंतिम दलील पेश करने के लिए 15 मिनट और राज्य सरकार को 10 मिनट का समय दिया जाएगा। उसके बाद अदालत अंतिम फैसला सुनाएगी।

वहीं, बीजेपी के वकील एसके कपूर ने आरोप लगाया कि इसके लिए इजाजत देने से इनकार करना पूर्व निर्धारित और इसका कोई आधार नहीं था. उन्होंने कहा कि अंग्रेजों के जमाने में महात्मा गांधी ने दांडी मार्च किया और किसी ने उन्हें नहीं रोका लेकिन अब यहां सरकार कहती है कि वह एक राजनीतिक रैली निकालने की इजाजत नहीं देगी.

इस मामले पर गुरुवार (20 दिसंबर) को फिर से सुनवाई होगी. दरअसल, न्यायमूर्ति तपब्रत चक्रवर्ती ने कहा कि वह बीजेपी द्वारा दी गई याचिका पर एक आदेश जारी करेंगे. याचिका के जरिए पार्टी ने अपनी रैली को इजाजत देने से इनकार करने के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नीत तृणमूल कांग्रेस सरकार के कदम को चुनौती दी है.

कपूर ने अदालत से कहा कि राज्य सरकार ने अपने दावे के समर्थन में कोई वस्तुनिष्ठ तथ्य नहीं रखा है और वह रैली करने से एक रजनीतिक दल को रोक रही है जबकि संविधान यह अधिकार देता है. महाधिवक्ता किशोर दत्ता ने अदालत को एक सीलबंद रिपोर्ट सौंपी और कहा कि बीजेपी की विवरणिका में यात्रा को प्रकाशित करना साम्प्रदायिक रूप से संवेदनशील प्रकृति का है.

उन्होंने दलील दी कि प्रशासनिक फैसले में अदालत के पास न्यायिक समीक्षा करने का सीमित दायरा है. उन्होंने कहा कि 2017 से पश्चिम बंगाल में विभिन्न राजनीतिक रैलियों और सभाओं के लिए 2100 इजाजत दी गई लेकिन इस मामले में अंदेशे के चलते रथ यात्रा की इजाजत नहीं दी गई.

new jindal advt tree advt
Back to top button