लुड़ेग में फर्जी धान खरीदी का मामला, हजारो क्विंटल धान की राशि सफाचट

2013 में किसानों का 300 रू प्रति क्विटल के हिसाब पर धान का बोनस दिया गया

जशपुर। जिले के बहुचर्चित लुड़ेग सोसाइटी धान घोटाला जांच अधिकारियों द्वारा जांच प्रतिवेदन बना के आगे की कार्यवाही के लिए दे गई है। इस करोड़ों के फर्जी धान घोटाले में लुड़ेग प्रबंधक जगदीश यादव को निलंबित कर दिया गया है।

निलंबित प्रबंधक जगदीश यादव द्वारा किसानों के नाम धान खरीदी बता के अपने ही परिजनों के नाम चेक बनवाया है। शासन द्वारा 2013 में किसानों का 300 रू प्रति क्विटल के हिसाब पर धान का बोनस दिया गया था।

हजारो क्विंटल फर्जी धान खरीदी कर बोनस की राशि को हड़प लिया गया। वहीं 15 वर्ष पूर्व मरे हुऐ किसान लालजीत पैंकरा के नाम पर फर्जी धान खरीदी किया गया। फर्जी खरीदी पर लाखो रू का बोनस भी प्रबंधक महोदय को ही मिला।

धान खरीदी कर मेरे बेटे का अपमान

मृतक किसान की मां का कहना है कि इनका कहना है मेरे मरे हुऐ बेटे के नाम पर जगदीश यादव द्वारा फर्जी धान खरीदी किया गया है, जिसमें धान खरीदी पर लाखों रूपए भी कमाया होगा।

मेरे बेटे जो 15 वर्ष पूर्व मर गया है उसके नाम पर धान खरीदी कर मेरे बेटे का अपमान हुआ है। मुझे न्‍याय नही मिला तो मैं कोर्ट का दरवाजा खटखटाउंगी। मेरे बेटे के नाम से लाखों रुपये कमाया है।

Back to top button