बिज़नेस

कैपिटल फर्स्ट कंपनी के चेयरमैन ने इन लोगों को दिए 20 करोड़ रुपए का शेयर गिफ्ट

कैपिटल फर्स्ट फाइनेंशियल कंपनी है जो एमएसएमई को लोन देती है

मुंबई :

इस दिवाली कैपिटल फर्स्ट कंपनी कंपनी के चेयरमैन और फाउंडर वी. वैद्यनाथन ने अपने पने ड्राइवर और नौकरानी को दिवाली गिफ्ट में 31.1-31.1 लाख रुपये दिये है और करीबी रिश्‍तेदारों में 20 करोड़ रुपये के शेयर गिफ्ट में बांटे है।

कंपनी ने शुक्रवार को रेग्युलेटरी फाइलिंग में बताया कि दिवाली के तोहफे के तौर पर ये शेयर दिए गए हैं। कैपिटल फर्स्ट फाइनेंशियल कंपनी है जो एमएसएमई को लोन देती है।

26 कर्मचारियों को 52.64 लाख रुपए के शेयर मिले

वैद्यनाथन ने 3 नौकरों और 2 ड्राइवरों को 6500-6500 शेयर दिए। कैपिटल फर्स्ट का शेयर शुक्रवार को 478.60 रुपए पर बंद हुआ था। इसके हिसाब से हर नौकर और ड्राइवर को 31.1 लाख रुपए के शेयर मिले।

छब्बीस पूर्व और मौजूदा कर्मचारियों को 11-11 हजार शेयर गिफ्ट किए गए। यानि हर कर्मचारी को 52.64 लाख रुपए के शेयर मिले। वैद्यनाथन ने अपने भाइयों सत्यमूर्ति वेम्बु को 26,000 और कृष्णमूर्ति को 13,000 शेयर दिए हैं।

वैद्यनाथन ने परिवार के 8 अन्य सदस्यों को 71,500 शेयर देने का ऐलान किया गया है। वैद्यनाथन ने अपने हिस्से के शेयर गिफ्ट किए। उनके पास कैपिटल फर्स्ट के 40 लाख (4.08%) शेयर हैं।

कैपिटल फर्स्ट ने कहा कि जो लोग उतार-चढ़ाव के समय चेयरमैन वैद्यनाथन के साथ खड़े रहे, उनका आभार जताने के लिए दिवाली गिफ्ट में शेयर दिए गए हैं। इनमें से कोई उनका उत्तराधिकारी नहीं है।

साल 2012 में कैपिटल फर्स्ट कंपनी बनाने से पहले वैद्यनाथन आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस के एमडी और सीईओ थे। वो आईसीआईसीआई बैंक के बोर्ड में भी शामिल रहे थे।

कैपिटल फर्स्ट का आईडीएफसी बैंक में विलय हो रहा है। इसके लिए पिछले महीने शेयरधारकों की मंजूरी मिली थी। डील के मुताबिक आईडीएफसी बैंक कैपिटल फर्स्ट के 10 शेयरों के बदले 139 शेयर जारी करेगा।

मर्जर प्रक्रिया पूरी होने के बाद आईडीएफसी बैंक के सीईओ और एमडी राजीव लाल नई कंपनी के नॉन एग्जीक्यूटिव चेयरमैन होंगे। वैद्यनाथन वेम्बु एमडी और सीईओ का पद संभालेंगे।

congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags