छत्तीसगढ़

खेती बचाओ यात्रा की रथ को हरी झंडी दिखाकर किया गया रवाना

छत्तीसगढ़ के महामहिम राज्यपाल के घेराव के पश्चात की जाएगी समापन

धमतरी: राष्ट्रीय किसान मोर्चा एवं राष्ट्रीय मतदाता जागृति मंच ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुवे कहा है कि मंच के द्वारा केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि बिल की वापसी और न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी देने वाले कानून की मांग को लेकर 22 सितंबर से लगातार खेती बचाओ आंदोलन के तहत गांव गांव में चौपाल लगाकर तीनों कृषि कानून खेती किसानी के लिए कैसे नुकसानदायक है।

इसके बारे में विस्तृत चर्चा कर रहे थे जिसे छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ के बैठक में 3 जनवरी को सर्वसम्मति से निर्णय लेते हुए पूरे प्रदेश में खेती बचाओ यात्रा के रूप में चलाने का निर्णय लिया गया जिसकी शुरुआत धमतरी जिला के घड़ी चौक से आज दिनांक 7 जनवरी को खेती बचाओ यात्रा की रथ को हरी झंडी दिखाकर किया गया।

इस अवसर पर किसान मोर्चा मोर्चा के सलाहकार अधिवक्ता शत्रुहन साहू ने बताया कि खेती बचाओ यात्रा पूरे प्रदेश में 22 जनवरी तक चलाई जाएगी जिस का समापन 23 जनवरी को छत्तीसगढ़ के महामहिम राज्यपाल के घेराव के पश्चात की जाएगी जिसकी शुरुआत आज धमतरी जिला से किया गया।

इस यात्रा के दौरान बनाई गई रथ विभिन्न गांव में पहुंचकर तीनों कृषि कानून के नुकसान के बारे में लोगों को जागरूक करेंगी साथ ही पर्चा बांटकर दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन के लिए तन मन धन से भाग लेने की अपील किया जाएगा।

राष्ट्रीय मतदाता जागृति मंच के जिला अध्यक्ष संजय चंद्राकर ने कहा कि खेती बचाओ आंदोलन की शुरुआत करते हुए आज 7 जनवरी को छत्तीसगढ़ से प्रदेश के किसानों का पहला जत्था, किसान विरोधी काले कानून की वापसी की मांग को लेकर दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन में शामिल होने रायपुर के नवीन बस स्टैंड, भाठागांव, रिंगरोड नम्बर 1, रायपुर से सिंघु बार्डर दिल्ली के लिये रवाना हो हो रहा है।

राष्ट्रीय किसान मोर्चा के टिकेश्वर साहू एवं सतनाम सिंह ने कहा इस यात्रा के माध्यम से क्षेत्र के किसान केंद्र सरकार के किसान विरोधी रवैया से अवगत होंगे। इस अवसर पर राम विशाल साहू रसूल खान अशफाक अली हाशमी महावीर साहू ने कहा कि खेती बचाओ यात्रा दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में निकाली जा रही है।

इसके माध्यम से किसी कानून के नुकसान के बारे में पूरे क्षेत्रवासियों को अवगत कराया जाएगा ।निशांत भट्ट सतवंत महिला टिकेश्वर सिन्हा ने कहा दिल वापसी नहीं तो यह लड़ाई भी नहीं रुकेगी यह आर पार की लड़ाई है किसानों के मान सम्मान और धरती की लड़ाई है इस लड़ाई को जीत कर ही दम लेंगे।

भुनेश्वर साहू जुगल किशोर दिग्विजय सिंह ने कहा यह आजादी की लड़ाई है इस पर जान भी कुर्बान हो जाए तो कम है मिट्टी को बचाने के लिए किसान हमेशा से खून पसीना बहाता आ रहा है और यह लड़ाई मिट्टी को बचाने की लड़ाई इस अवसर पर संयुक्त किसान मोर्चा के अधिवक्ता शत्रुहन सिंह साहू संजय चंद्राकर टिकेश्वर साहू युगल किशोर साहू दिग्विजय सिंह मूलचंद निशांत भट्ट राम विशाल साहू अशफाक हाशमी सतनाम सिंह केशव सेना भुनेश्वर साहू राम विशाल साहू अशफाक अली हाशमी रसूल खान महावीर साहू उत्तम साहू मूलचंद साहू सनत निर्मलकर कृष्णकांत कुंजाम अयूब खान सहित बड़ी संख्या में क्षेत्र के किसान उपस्थित रहे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button