देश के इन चार शहरों में विश्राम भवन बनाएगी छत्तीसगढ़ सरकार

रायपुर।

निर्माण कार्यों में किसी तरह की लापरवाही बरतने और गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा। लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने सिविल लाइन स्थित नवीन विश्राम भवन में लोक निर्माण विभाग की राज्य स्तरीय बैठक में विभागीय काम-काज की समीक्षा की।

तीखे तेवर दिखाते हुए साहू ने कहा कि स्वीकृत सभी निर्माण कार्यों को गति देने के लिए टेंडर प्रक्रिया में विलंब करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि विभाग की छवि को बनाए रखने में अधिकारी निर्माण कार्यों की गुणवत्ता और इसे समय-सीमा में पूर्ण करने के लिए विशेष ध्यान रखें।

छत्तीसगढ़ में राजमार्गों के अलावा अन्य सभी सड़कों से पथकर (टोल टैक्स) की वसूली समाप्त करने के लिए नियमानुसार आवश्यक पहल करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रदेश के दूर-दराज तथा नक्सल प्रभावित जिलों के अंदरूनी भागों तक सुगम आवाजाही के लिए सड़क मार्गों के निर्माण के लिए अधिक से अधिक प्रस्ताव देने के निर्देश दिए।

इसके अलावा छत्तीसगढ़ के लोगों के अन्य दूसरे राज्यों के अधिकतम आवाजाही वाले स्थानों ओडिशा राज्य के पुरी, आंध्रप्रदेश के तिरूपति, महाराष्ट्र के शिरडी और तेलांगाना की राजधानी हैदराबाद में ठहरने के लिए सर्वसुविधायुक्त भवन अथवा धर्मशाला बनाने का प्रस्ताव मंगाया।

सड़क मार्ग के सिंगल लेन की बजाय डबल लेन सड़क बनाने के प्रस्ताव को अधिक से अधिक शामिल किया जाए। सड़कों में हुए गड्ढ़ों का मरम्मत कार्य एक सप्ताह के भीतर हर हालत में पूर्ण करने के लिए भी निर्देशित किया। बैठक में अनिल राय, डीके अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

1
Back to top button