छत्तीसगढ़

CM ने ग्राम नगरा में सिंचाई नहर, सड़क मरम्मत और सी.सी. सड़क निर्माण कराने की घोषणा की

समाधान शिविर : महिला समूहों को बैट्री चलित ऑटो और हितग्राहियों को रसोई गैस कनेक्शन का वितरण

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के तहत् आज बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के विकासखण्ड रामचन्द्रपुर के ग्राम नगरा के समाधान शिविर में अचानक पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों की मांग पर गांव में सिंचाई नहर विस्तार कार्य एवं मुख्य सड़क से नगरा तक सड़क मरम्मत तथा ग्राम पंचायत नगरा के दो वार्डाें में सी.सी. सड़क निर्माण कराने की घोषणा की। डॉ. सिंह ने कहा कि लोक सुराज अभियान में ग्रामीणों और प्रशासन के अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ बेहतर तालमेल बनाकर शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन का प्रयास किया जाता है।

मुख्यमंत्री ने लोक सुराज अभियान के तहत आयोजित इस शिविर में आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजनान्तर्गत 21 ग्राम संगठन के महिला समूहों को बैट्री चलित ऑटो तथा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के हितग्राहियों को रसोई गैस कनेक्शन का वितरण किया गया। उन्होंने मात्रात्मक त्रुटि के कारण जाति प्रमाण पत्र से अब तक वंचित जनजाति के लोगों को नई अधिसूचना के अनुसार जाति प्रमाण पत्र वितरित किए।

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने उपस्थित जन समुदाय को अपने सम्बोधन में कहा कि लोक सुराज समाधान शिविर का आज तीसरा दिन है । नक्सल प्रभावित सुकमा जिले से अभियान की शुरूआत हुई है। उन्होंने कहा कि इस अभियान में किसानों एवं ग्रामीणजनों के खेती-किसानी से संबंधित नामांतरण एवं बटवारा, बिजली सुधार जैसे छोटे-छोटे काम आसानी से हो जाते हैं।

साथ ही भ्रमण के दौरान जिले के आम लोगों से मुलाकात होती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस जिले में खैरवार एवं खेरवार जनजाति के लोग बड़ी संख्या में निवास करते हैं। मात्रात्मक त्रुटि के कारण खैरवार जनजाति के लोगों को जाति प्रमाण पत्र नहीं होने की वजह से जनजाति का लाभ नहीं मिलता था।

अब यह दिक्कत दूर हो गई है। वर्षों से जाति प्रमाण पत्र की मांग कर रहे खैरवार जनजाति के लोगों को खेरवार जनजाति के समान सभी सुविधाओं का लाभ अब मिलेगा। मुख्यमंत्री ने लोक सुराज अभियान में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी से क्षेत्र में भू-जल स्तर एवं पेयजल और निस्तारी पानी की समस्या तथा हैण्डपम्प एवं नलजल योजना की स्थिति की जानकारी ली और पेयजल तथा निस्तार के लिए समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने अन्य विभागों में प्राप्त आवेदनों के निराकरण की स्थिति तथा विभागीय योजनाओं की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि लोक सुराज अभियान में हमारा प्रयास मैदानी क्षेत्र में शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करना है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी अविद्युतीकृत घरों में माह सितम्बर 2018 तक बिजली कनेक्शन देने का लक्ष्य है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकासखण्ड रामचन्द्रपुर के नगरा कलस्टर का प्राकृतिक दृश्य एवं खेतों का हरे-भरे दृश्य मन को भा रहा है। उन्होंने ग्रीष्म ऋतु में खेतों में हरियाली लाने वाले कृषकों को बधाई एवं शुभाकामनाएं दी। डॉ. सिंह ने कहा कि इस जिले को सूक्ष्म सिंचाई के साधनों के विस्तार और सोलर पम्प से सिंचाई सुविधा के विस्तार के लिए प्रदेश में सबसे अधिक लक्ष्य दिया गया है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत् शेष बचे हुए हितग्राहियों को भी योजना का लाभ दिया जाएगा।
शिविर में सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों ने आम जनता से प्राप्त आवेदनों के निराकरण की स्थिति की जानकारी दी।

इस अवसर पर विधायक बृहस्पत सिंह, मुख्य सचिव अजय सिंह, प्रभारी सचिव एन.के. खाखा, मुख्यमंत्री सचिवालय के विशेष सचिव मुकेश बंसल, जनसम्पर्क विभाग के विशेष सचिव राजेश सुकुमार टोप्पो, कलेक्टर अवनीश कुमार शरण, पुलिस अधीक्षक टी.आर. कोसिमा, सहित अनेक जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.