राज्य

मुख्यमंत्री ने किया ऐलान दुष्कर्म पीड़िता का बनेंगे अभिभावक

बुधवार को गुंटुर जिले में 50 साल के एक रिक्शाचालक ने किया था दुष्कर्म

हैदराबाद: आंध्र प्रदेश मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने शनिवार को ऐलान किया कि 9 साल की दुष्कर्म पीड़िता लड़की का अभिभावक बनेंगे. अभिभावक बनने के साथ ही वे उस लड़की की शिक्षा से जुड़े सभी तरह के खर्च को उठाएंगे. यह फैसला सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती नाबालिग लड़की से बात करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि वह अपना निजी पैसा उसकी शिक्षा पर तब तक खर्च करेंगे, जब तक वह अपना लक्ष्य हासिल नहीं कर लेती.

नायडू ने कहा कि पीड़िता के माता-पिता अपनी जिम्मेदारी निभाते रहेंगे, लेकिन वह उसके लिए अपने स्तर पर बेहतर शिक्षा दिलाने की कोशिश करेंगे. उन्होंने कहा, ‘मैंने जिलाधिकारी से कह दिया है कि गुंटुर में सबसे अच्छे स्कूल की पहचान करें.’

राज्य सरकार ने पहले ही पीड़िता के परिवार को बतौर मुआवजा 5 लाख देने की घोषणा कर चुकी है. राज्य के मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अलावा 5 लाख रुपया लड़की के नाम से फिक्सड डिपॉजिट किया जाएगा. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि खेती के लिए रेप पीड़िता के परिवार को 2 एकड़ की जमीन के अलावा उसके पिता को नौकरी और घर दिया जाएगा.

बता दे की 9 साल की लड़की का बुधवार को गुंटुर जिले में डेचापल्ली में 50 साल के एक रिक्शाचालक ने रेप किया था. घटना सामने आने के बाद लोगों ने जमकर प्रदर्शन भी किया. बाद में आरोपी ने गांव में खुदकुशी कर ली.

Tags
Back to top button