कलेक्टर ने राहटा के छात्राओं को दी मोटर बोट की सौगात

जागेश्वर सिन्हा

बालोद।

कलेक्टर किरण कौशल को जब पता चला कि जिले के डौण्डीलोहारा विकासखण्ड के वनांचल ग्राम पंचायत मडि़याकट्टा के आश्रित ग्राम राहटा की छात्राएं स्वयं पीपे की नाव चलाकर डूबान क्षेत्र से नाला पार कर पढ़ने हायर सेकेण्डरी स्कूल अरजपुरी जाती है। कलेक्टर ने तत्काल ही संवेदनषीलता का परिचय देते हुए आज वहॉ मोटर बोट भिजवाकर प्रशासनिक अधिकारियों के साथ स्वयं दोपहर ग्राम राहटा पहुॅची।

कलेक्टर जब ग्राम राहटा पहुॅची तब कक्षा बारहवीं की कु. षांति, कक्षा दसवीं की कु. प्रीति और कक्षा आठवीं के पूनम कुमार पढ़ने अरजपुरी स्कूल गए हुए थे। कलेक्टर ने छात्र-छात्राओं को वापस लाने नगर सैनिकों को मोटर बोट लेकर भेजा और उनके आने तक वहॉ इंतजार किया।

स्कूल की छुट्टी के पष्चात छात्र-छात्राएं मोटर बोट में बैठकर प्रसन्नतापूर्वक वापस आएॅ। वापस आने के पष्चात छात्र-छात्राओं ने कलेक्टर को उत्साहपूर्वक बताया कि वे पीपे की नाव से नाला पार कर स्कूल गए थे, वापस मोटर बोट में बैठकर आए हैं, जो बहुत अच्छा लगा।

ग्रामीणों ने कलेक्टर से कहा कि उन्हें बाजार तथा किराना आदि का समान लेने ग्राम अरजपुरी पीपे की नाव से पार कर पहुॅचना पड़ता है। अतः स्कूली छात्र-छात्राओं और ग्रामीणों के लिए पतवार वाली फाइवर बोट दी जाए। ग्रामीणों की मॉग पर कलेक्टर ने कहा कि पन्द्रह दिवस के भीतर पतवार वाला फाइवर बोट की व्यवस्था कर दी जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि जब तक पतवार वाला फाइवर बोट नहीं आ जाता, तब तक दो नगर सैनिक प्रतिदिन छात्र-छात्राओं को लाइफ जैकेट सहित मोटर बोट से नाला पार कराएंगे। कलेक्टर ने छात्राओं से चर्चा कर उनके पढ़ाई-लिखाई की जानकारी ली और उन्हें डौण्डीलोहारा में कन्या छात्रावास में रहकर पढ़ाई करने की सलाह भी दी।

कलेक्टर ने विभिन्न समस्याओं पर उपस्थित ग्रामीणों से चर्चा की। ग्रामीणों ने बताया कि उनका गॉव खरखरा जलाषय के डुबान क्षेत्र में बसा है और गॉव की जनसंख्या मात्र 118 है। ग्रामीणों की मॉग पर कलेक्टर ने ग्राम राहटा से ग्राम रायगढ़ तक चार किलोमीटर सड़क निर्माण की स्वीकृति दी। इसके लिए उन्होंने पंचायत विभाग और वन विभाग के अधिकारियों को प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए।

ग्रामीणों की मांग पर उन्होंने रेडी टू ईट पोषण आहार गॉव में ही पहुॅचा कर वितरण कराने और बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण व टीकाकरण भी कराने के निर्देष महिला एवं बाल विकास विभाग के सुपरवाईजर को दिए। कलेक्टर ने ग्रामीणों की मॉग पर पेयजल हेतु सोलर हैण्डपम्प लगाने के निर्देष दिए। कलेक्टर के पूछने पर ग्रामीणों ने बताया कि गॉव के सभी परिवार का राषन कार्ड बना है, उन्हें षासकीय उचित मूल्य की दुकान मडि़याकट्टा से राषन सामग्री मिलती है।

इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राजेन्द्र कुमार कटारा, वनमण्डल अधिकारी श्री पैकरा, एस.डी.एम. जी.एल.यादव, आदिवासी विकास विभाग की उपायुक्त माया वारियर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

1
Back to top button