छत्तीसगढ़

कलेक्टर ने कवर्धा शहर के कंटेन्टमेंट जोन क्षेत्र का भ्रमण कर आवश्यक जाजया लिया

महज एक सप्ताह अनावश्यक अपने घर और शहर से बाहर निकलने से बचे- कलेक्टर

  • कलेक्टर ने कहा- कोरोना के संक्रमण रोकने व्यापारियों का मिला सहयोग, आमजनों को भी सहयोग करना होगा
  • सर्दी, खासी, बुखार है तो छुपाएं नहीं, टोल फ्री नम्बर 104 या नम्बर 07741232078 फोन कर सूचना दें

कवर्धा, 20 सितंबर 2020 : कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने शनिवार देर शाम व रात कवर्धा शहर के वास्तविक स्थिति का जायजा लेने के लिए शहर के विभिन्न कंटेन्टमेंट जोन क्षेत्रों का भ्रमण किया। उन्होने शहर के प्रमुख मार्गों का जायजा लेने के बाद कवर्धा के सटे पिकनिट स्पाॅट सरोदा बाध तक निरीक्षण किया।

कलेक्टर शर्मा ने कहा कि कोविड-19 कोरोना वायरस के रोकथाम और नियंत्रण के लिए राज्य शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा अनेक प्रयास किए जा रहे है। जिले में जिस तेज गति से कोरोना के संक्रमण का प्रभाव देने के मिला रहा है वह बहुत ही चिंतनीय है, पर इसके संक्रमण को रोकने और रोकथाम के लिए आज शहर को कन्टेंटमंेट जोन घोषित किया गया है।

कोरोना के संक्रमण के रोकने के लिए शहर के सभी छोटे-व्यापारी वर्ग का आज जिला प्रशासन का सहयोग मिल रहा है। यह बहुत ही अच्छी बात है। आज शहर के सभी छोटे-बड़े व्यापारी अपने घाटे को सहन करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को हराने में शासन-प्रशासन के साथ खड़े है। लेकिन ठीक इसके विपरित शहर के आमजनों का उतना अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा रहा है, जितना की इस संक्रमण के चैन को तोड़ने अथवा रोकने के लिए आवश्यक है।

महज एक सप्ताह आमजन अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकले में, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और अपने घर के सामने, चैक-चैराहों में समुह के रूप में नहीं बैठने के लिए जिला प्रशासन का सहयोग कर देते है तो कोरोना के संक्रमण को रोकने में सफल हो सकते है।

कलेक्टर शर्मा ने बताया

कलेक्टर शर्मा ने बताया कि हम लगातार सभी वार्डों और गांव में मुनादी अथवा लाडस्पीकर के माध्यम से संदेश पहंचा रहे है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए आज शहर कंटेन्टमेंट जोन घोषित किए गए है। इसलिए अनावश्यक घर से बाहर ना निकले और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

हेंड सेनेटाईजर का उपयोग करें और साबुन से हाथों को अच्छी तरह से समय-समय पर साफ करते रहे। आज शहर के भ््रामण के दौरान शहर के सभी छोटे-बड़े दुकान बंद मिले, लेकिन शहर वासी अपने घरों में सामने, या चैक-चैराहों पर समुह के रूप में दिखें। ना वहां कोई सोशल डिटेंन्सिंग का पालन करते नजर आएं और ना ही वहां किसी ने मास्क पहना है।

समुह अथवा टू-वीलर में सरोधा की तरह भारी संख्या में शहर से बाहर निकल रहे है। जिला प्रशासन ने जिले सभी पिकनिकट स्पाॅट को आगामी आदेश तक बंद रखा है। ऐसी स्थिति में समूह में प्रास्कृतिक सौदर्य का दर्शन अथवा भ्रमण करना उचित नहीं है। आप सुरक्षित रहेंगे तो आने वाले निकट समय पर अपने परिवार के साथ उन सभी पिकनिट स्पाॅट और प्राकृतिक सौदर्य का दर्शन अथवा आंनद उठा पाएंगे, जिस क्षेत्रों को वर्तमान में अभी प्रतिबंध लगाया गया है।

कलेक्टर शर्मा ने जिले अथवा शहर वासियों से अपील करते हुए कहा कि शासन-प्रशासन कोरोना के संक्रमण और उनके रोकथाम के लिए लिए सभी आवश्यक उपाय किए जा रहे है, लेकिन यह शासन-प्रशासन का प्रयास और उपाय तभी सफल होगा, जब शहर के आमजन इस उपाय का अपनाएंगे। कलेक्टर शर्मा ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमणक रोकने के लिए उनके चैन को पहने तोड़ना होगा। कलेक्टर शर्मा ने कहा कि अगर हम पूरी ईमानदारी से कन्टेंटमेंट जोन क्षेत्र से अथवा अपने घरों से अनावश्यक बाहर निकलने से बचेंगे तो हम बहुत जल्द ही इस वायरस के संक्रमण को रोक सकते है।

कंटेन्टमेंट आपके और आपके परिवार की सुरक्षा के लिए, पालन अवश्यक करें

कलेक्टर शर्मा ने बताया कि कवर्धा शहर में जिस तेज गति से कोरोना के संक्रमण के प्रकरण सामने आ रहे है, इससे यह तथ्य भी सामने आ रहे है, संक्रमण का प्रभाव उस क्षेत्र अथवा वार्ड में ज्यादा मिल रहे है, जहां पहले भी मिल चुकें है। इससे साफ जाहिर है कि उन वार्डों के निवासी कन्टेंटमेंट जोन क्षेत्र के निर्देशों का पालन नहीं किया जा रहा है। उन्होने बताया कि केनटेमेंट जोन क्षेत्र घोषित करने का उद्देश्य यह है कि हम कोरोना के संक्रमण पर काबू पा सके और उन वार्डों के अन्य परिवारों को पुर्णतः सुरक्षित रख सके। केन्टेंटमेंट जोन क्षेत्र आप और आपके परिवार की सुरक्षा के लिए बनाया जा रहा है। इसलिए इस गंभीरता को समझे और अनावश्यक घर से अथवा शहर से बाहर निकलने से कुछ दिन के लिए बचे।

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए इन बातों का रखे ख्याल

 

कलेक्टर शर्मा ने अपील करते हुए कहा कि सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में कठिनाई, स्वाद और सूंघने की क्षमता का अभाव कोरोना वायरस का प्रमुख लक्षण है। समय रहते इस कोरोना के संक्रमण को रोका जा सकता है। सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में कठिनाई, स्वाद और सूंघने की क्षमता का अभाव जैसे लक्षण दिखाई दे रहे तो तत्काल राज्य शासन के टोल फ्री नम्बर 104 और जिला स्वास्थ्य विभाग के दूरभाष नम्बर 07741232078 पर फोन लगा कर निःशुल्क कोरोना जांच कराए।

समय रहते कोरोना वायरस को चिन्हांकित कर पाने पर इस वायरस संक्रमण को रोका जा सकता है और संबंधित व्यक्तियों को आसानी से बचाया जा सकता है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए। कंन्टेंटमेंट जोन क्षेत्र में प्रवेश अथवा बाहर निकलने से बचना चाहिए। अगर बहुत ही जरूरी का है तभी घर से बाहर निकले।

घर से बाहर जाते समय सावधानी बरते और भींड-भाड़ जगहों में ना जाएं। हमेशा मास्क और हैण्डसेनेटाइजर का उपयोग करे। अपने हाथों से नांक, मुंह, और आंख को बार-बार ना छुए। घर वापस आने के बार अपने हाथों को किसी भी साबुन से अच्छी तरह से जरूर साफ करना चाहिए। अगर संभव हो तो तत्काल पुरा कपड़ा भी बदल लेना चाहिए।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button