मुख्यमंत्री और सरकार का आत्मविश्वास डोल गया : अध्यक्ष विष्णुदेव साय

रायपुर: भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राज्य सरकार पर भाजपा और भाजपा के नेताओं के प्रति अनर्गल बात करके भ्रम पैदा करने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार अंतर्कलह से जूझ रही है। ऐसे में एक वक्तव्य पर मुख्यमंत्री को 10 मंत्री के साथ मैदान में उतरना पड़ा। इससे साफ है कि उनका आत्मविश्वास डोल गया है।

भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में शनिवार को प्रेसवार्ता लेकर प्रदेश अध्यक्ष साय ने मुख्यमंत्री के आरोपों का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि बस्तर चिंतन बैठक के बाद ऐतिहासिक संभागीय कार्यकर्ता सम्मेलन से राज्य के मुख्यमंत्री और कांग्रेस की चिंता बढ़ गई है। अंतर्कलह और कुर्सी दौड़ चल रही है। अपनी नाकामी और कमजोरी छिपाने के लिए भ्रम फैलाने में लगी है।

साय ने कहा कि दरअसल पुरंदेश्वरी ने कार्यकर्ताओं की एकजुटता और उत्साह देखकर जोश बढ़ाने के लिए बयान दिया था, लेकिन कांग्रेस तिल का ताड़ बना रही है। कैबिनेट के लिए दिए गए बयान को किसानों की तरफ मोड़ दिया है। साय ने कहा कि भाजपा किसानों के प्रति कोई गलत बात नहीं कह सकती है। इनकी सरकार में किसान रकबा घटने, नकली खाद-बीज, बिजली कटौती और धान बेचने की दिक्कत से जूझ रहे हैं।

ढाई वर्षों में पांच सौ किसानों को आत्महत्या करने के लिए विवश होना पड़ा। शराबबंदी का वादा करके घर-घर शराब पहुंचा रहे हैं। इनके मंत्री हमारी प्रदेश प्रभारी को दस्यु सुंदरी कहते हैं, तब मजा आता है। हमारे नेता को जशपुर का बड़े बाल वाला नचनिया कहते हैं तो अच्छा लगता है। इनके एक नेता आदिवासियों को अंगूठा छाप कहते हैं तो भी मुख्यमंत्री खामोश रहते हैं। यह उनका संस्कार दिखता है।

पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि हमने किसी को अपमानित नहीं किया, इसलिए माफी मांगने या स्पष्टीकरण देने की जरूरत नहीं है। उन्होंने दावा किया कि ढाई साल बाद भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार आएगी। उन्होंने कहा कि अगर भूपेश बघेल को किसानों की इतनी ही चिंता है तो अवर्षा की स्थिति बनी हुई है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button