कांग्रेस विधायक को सुरक्षाकर्मियों ने मंच से उतारा

कांग्रेस इस पर पहले ही विरोध दर्ज करा चुकी थी।

मध्य प्रदेश : गुना में आयोजित सरकारी समारोह में क्षेत्रीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को न बुलाए जाने पर ऐतराज जताने वाले कांग्रेस विधायक महेंद्र सिंह सिसौदिया को सुरक्षाकर्मियों ने धकियाते हुए मंच से उतार दिया. विधायक सिसौदिया का आरोप है कि क्षेत्रीय सांसद को न बुलाना और उनका नाम शिलालेख पर न लिखा जाना क्षेत्र की जनता का अपमान है।

लाल परेड ग्राउंड में सोमवार को विकास पर्व सड़क अधोसंरचना एवं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ 2017 के फसल बीमा दावे के भुगतान प्रमाणपत्र वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम के आमंत्रणपत्र पर क्षेत्रीय सांसद सिंधिया का नाम नहीं था। कांग्रेस इस पर पहले ही विरोध दर्ज करा चुकी थी।

सिसौदिया ने आईएएनएस से चर्चा करते हुए कहा कि वे मंच पर थे। उन्होंने देखा कि जिस निर्माण कार्य का भूमि पूजन हो रहा है, उसके शिलालेख पर क्षेत्रीय सांसद सिंधिया का नाम नहीं है, इस पर उन्होंने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के सामने आपत्ति दर्ज कराई।

सिसौदिया का आरोप है कि वे आपत्ति दर्ज करा रहे थे, तभी मंत्री रामपाल सिंह ने उन पर झूठ बोलने का आरोप लगाया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मसले पर कलेक्टर से बात करने को कहा।

इसी बीच सिसौदिया ने मंच के डायस पर पहुंचकर अपनी बात रखी और कहा कि क्षेत्रीय सांसद को न बुलाकर सरकार ने क्षेत्र की जनता का अपमान किया है। सिसौदिया बोल ही रहे थे, तभी सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें धकियाते हुए नीचे उतार दिया।

सिसौदिया का आरोप है कि जिस परियोजना को सिंधिया ने केंद्रीय मंत्री रहते मंजूर कराया, उसके भूमि पूजन शिलालेख पर उनका नाम न होना क्षेत्र को अपमानित किया जाना है। भाजपा के लोग किसी भी मौके पर अपना ओछापन दिखा ही देते हैं।

new jindal advt tree advt
Back to top button