कुछ वादे तो पूर्ण कर गंगाजल की लाज रख लेते कांग्रेसी: भाजपा

रायपुर. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने स्कूल शिक्षा विभाग के बाद पंचायत विभाग द्वारा शिक्षकों की क्रमोन्नति के संबंध में जारी नए आदेश को पंचायत शिक्षाकर्मियों के साथ छलावा और धोखाधड़ी बताया है. श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश सरकार को इस मुद्दे पर संवेदनशील होकर पंचायत शिक्षाकर्मियों को क्रमोन्नति का लाभ दिलाना चाहिए.

भाजपा प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि पंचायत संचालक द्वारा जारी पत्र के मुताबिक क्रमोन्न्ति का लाभ केवल नवंबर 2011 से मई 2013 तक उन शिक्षाकर्मियों को ही मिलेगा जिनकी तब तक 10 वर्ष की सेवा पूर्ण हो गई थी और उन्हें पदोन्नति का लाभ भी नहीं मिला था. इससे साफ है कि जिन शिक्षकों की नियुक्ति अप्रैल 2003 के बाद हुई है, वे क्रमोन्नति के पात्र नहीं रह गए है.

श्रीवास्तव ने कहा कि विधानसभा चुनाव में संविलियन और दीगर मुद्दों पर शिक्षाकर्मियों के पक्ष में दम-खम दिखाने और उनकी हर दिक्कतों को दूर कर उनके साथ न्याय की बात करने वाली कांग्रेस और उसकी प्रदेश सरकार अब इस मुद्दे पर चुप्पी साधकर बैठ गई है. यह प्रदेश सरकार का शिक्षाकर्मियों के साथ छलावा है, क्योंकि अब क्रमोन्नति, पदोन्नति और संविलियन की शिक्षाकर्मियों की आशा पर तुषारापात हो रहा है और सरकार अपने वादे से मुकर रही है. वादा पूरा करने के लिए विधानसभा चुनाव में गंगाजल की कसम खाते थे अब कुछ वादे पूर्ण कर गंगाजल की लाज रख लेते कांग्रेसी.

भाजपा प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि भाजपा शिक्षाकर्मियों के साथ हो रहे इस व्यवहार को प्रदेश सरकार की शिक्षाकर्मियों के साथ धोखाधड़ी मानती है. प्रदेश सरकार को नौकरशाहों के रूखे प्रशासनिक रवैये से मुक्त होकर अपने वादे के मुताबिक शिक्षाकर्मियों को हर तरह का जायज लाभ दिलाने की संवेदनशील पहल आने वादे के मुताबिक करनी चाहिए.

Back to top button