धरती पर सबसे शुद्ध हवा वाला देश, जहां प्रदूषण है कोसों दूर

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन की तरफ से सबसे स्वच्छ हवा वाला जगह बताया गया

वायु प्रदूषण की दृष्टि से दुनिया के सबसे अधिक प्रदूषित 20 शहरों में से 10 भारत में ही हैं इस खराब हवा की वजह से कई लोग अस्थमा, सीओपीडी, लंग कैंसर और दिल की परेशानी जैसी गंभीर बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं।

भारत की राजधानी दिल्ली की हवा की गुणवत्ता तो दिनों-दिन और खराब होती जा रही है। बढ़ते एयर पॉल्यूशन को देखकर लगता है कि शायद ही कोई ऐसा देश हो जो इस समस्या से खुद को बचा पाया हो लेकिन एक ऐसा देश भी है जिसे वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन की तरफ से सबसे स्वच्छ हवा वाला जगह बताया गया है।

इस पृथ्वी पर सबसे शुद्ध हवा वाला यह देश है फिनलैंड। यूरोपीय देशों में आने वाले फिनलैंड में वायु प्रदूषण न होने का कारण है साफसफाई और गाड़ियों की बेहतर कंडीशन व पॉल्यूशन फैलाने वाली फैक्ट्रीज़ और इंडस्ट्रीज़ का शहर से बेहद दूर होना।

WHO के मुताबिक यहां प्रति क्यूबिक मीटर में लगभग 6 माइक्रोग्राम बारिक कण ही पाए जाते हैं, जो दुनिया भर में दर्ज किए गए प्रदूषण के कणों में सबसे कम है।

इसके बाद स्वीडन, कनाडा, नॉर्वे और आइसलैंड जैसे शहर का एयर पॉल्यूशन कम है। वहीं, फिनलैंड में भी सबसे प्योर हवा मुओनियो जगह की है, जहां पीएम 2.5 के सिर्फ 2 माइक्रोग्राम कण पाए जाते हैं जबकि दिल्ली की जगह आंनद विहार का पीएम 339 आंका गया है।

1
Back to top button