मुंगेली जिले के क्राइम ब्रांच को एसपी ने किया भंग, सभी पदस्थ लाइन भेजे गए

क्राइम ब्रांच में पदस्थ रहकर ऐशो आराम कर रहे वर्दीधारीयो के कमर टूट गए

मनीष शर्मा

मुंगेली। क्राइम ब्रान्च के नाम से जहा अपराधियो के हौसले टूट जाते है,वही बड़ी बड़ी घटनाओ का पर्दाफाश भी हो जाता था,लेकिन कुछ लोग इसको वसूली का साधन बना लिए थे,जिसकी वजह से अपराधियो से क्राइम ब्रांच से बाहर में ही डील हो जाती थी।

इसी वजह से बड़े बड़े मामले सॉल्व होने की बजाए,उलझते चले जाते थे,लगातार मिल रही शिकायतों को देखते हुए आखिरकार प्रदेश के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने एक ऐसा कदम उठाया है।

जिससे क्राइम ब्रांच में पदस्थ रहकर ऐशो आराम कर रहे वर्दीधारीयो के कमर टूट गए है,जिनका घर क्राइम ब्रान्च से ही चलता है और जिनका ऐशो आराम की चीज भी क्राइम ब्रान्च से ही होती है।

रसूखदार होकर न सिर्फ बिना वर्दी के रौब झाड़ना बल्कि महंगे महंगे कपड़े और जूते पहनकर रोल में घूमना भी रहता है,अगर गौर किया जाए तो इंसमे वे चीजे भी आती है,जो बड़े बड़े अफसरो को भी कभी कभी नसीब नही होता है।

लगातार क्राइम ब्रांच की शिकायत मिलने की वजह से पुलिस विभाग में नवपदस्थ मुखिया ने क्राइम ब्रांच और उसकी जैसी जांच एजेंसियों को भंग करने का निर्देश दिया है। वरिष्ठ अधिकारियों की मानें तो क्राइम ब्रांच अब पूरी तरह से वसूली का अड्‌डा बन चुकी है।

दागी पुलिस अफसरों पर कार्रवाई करने का संकेत


छत्तीसगढ़ पुलिस की कमान संभालते ही डीजीपी डीएम अवस्थी ने दागी पुलिस अफसरों पर कार्रवाई करने का संकेत दिया है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी किया है।

इसी तारतम्य में पुलिस अधीक्षक मुंगेली पारुल माथुर ने आज जिले की क्राइम ब्रांच को भंग करते हुए क्राइम ब्रांच में पदस्थ रहे एक सहायक उप निरीक्षक, एक प्रधान आरक्षक व पांच आरक्षको को लाइन में कर दिया गया।

पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर ने बताया कि पुलिस महानिदेशक के निर्देश उपरांत क्राइम ब्रांच की टीम भंग कर दिया गया है ।बहरहाल इस आदेश के बाद पुलिस महकमे में इस कदर हड़कम्प मचा हुआ है।

जैसे किसी का कोई सत्ता चला गया हो ,वैसे देखा जाए तो क्राइम ब्रान्च में रहकर जिले में राज करना और ऐश करना अपने आपमे एक अलग बात होती है।

new jindal advt tree advt
Back to top button