ई-कॉमर्स की इस कंपनी का डाटा हुआ लीक, ज़्यादातर समस्या अमेरिका और यूरोप में

सॉफ्टवेयर में दिक्कत के कारण हुआ एेसा

नई दिल्ली :

आए दिन डाटा चोरी होने की ज्खबर सामने आ रहा है। जिसमे सबसे ज्या समस्या बैंकिंग सेंटर से भी है। ऐसा ही एक मामला विश्व की नंबर.1 ई-कॉमर्स वेबसाइट अमजेन.कॉम का आया है। जहां करोड़ों दाता लीक होने की खबर आई है।

विश्व की नंबर.1 ई-कॉमर्स वेबसाइट अमजेन.कॉम के करोड़ों ग्राहकों का डाटा लीक हो गया है। ये समस्या ज्यादातर अमेरिका और यूरोप में देखने को मिली है हालांकि कंपनी ने ग्राहकों को मैसेज भेजकर इस संबंध में सूचना दे दी है पर ग्राहकों को यह नहीं बताया गया है कि कब उनका डाटा लीक हुआ और इस समस्या को कब सही किया गया है।

केवल नाम और ईमेल आई.डी. हुई लीक

डाटा लीक 20 नवंबर से पहले हुआ था, क्योंकि कंपनी ने इसी तारीख से ग्राहकों को मैसेज भेजकर जानकारी देनी शुरू कर दी थी। ग्राहकों को बताया कि केवल उनका नाम और ईमेल आईडी लीक हुआ था हालांकि कंपनी ने कस्टमर्स के सवालों का कोई जवाब नहीं दिया है जिससे ग्राहक सोशल मीडिया पर कंपनी के प्रति गुस्सा और रोष जाहिर कर रहे हैं।

कंपनी ने इस समस्या का कारण सॉफ्टवेयर में दिक्कत होना बताया है। अमेजन के प्रवक्ता ने कहा है कि गड़बड़ी को ठीक कर दिया है। कंपनी ने कहा कि यह हैकिंग नहीं है और अमेजन का सिस्टम व वेबसाइट सहित ग्राहकों के पासवर्ड भी पूरी तरह से सुरक्षित हैं हालाकि भारतीय ग्राहकों को लीक से डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि कंपनी अमेजन.इन के नाम से यहां पर वेबसाइट और ऐप को संचालित करती है।

ग्राहकों को पासवर्ड बदलने की जरूरत नहीं: अमेजन

डाटा लीक की खबरों के बीच अमेजन का कहना है कि ग्राहकों के पासवर्ड सुरक्षित हैं उन्हें बदलने की जरूरत नहीं। अमेजन ने ग्राहकों विश्वास दिलाया कि वो अपने ग्राहकों के खातों की सुरक्षा को लेकर गंभीर है और कस्टमर की निजी जानकारी की सुरक्षा के लिए कंपनी की विशेष नीति है।

अमेजन के ग्राहकों की डिटेल सार्वजनिक होने का मामला एेसे समया में सामने आया है जब कंपनी के ईयर एंड हॉलिडे शॉपिंग सीजन के शुरू होने जा रही है। अमेजन शुक्रवार से ब्लैक फ्राइडे नाम से शॉपिंग सीजन की शुरुआत करेगी। अमेरिका के ऑनलाइन सेल मार्केट में अमेजन का 48% शेयर है।

1
Back to top button