बंंद की तारीख वही, जिस दिन हाइकोर्ट फैसला सुनाने वाला था : भाजपा

रायपुर।

नेशनल हेराल्ड मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा कांग्रेस नेत्री सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की 2011-12 के कर निर्धारण की फाइल दुबारा न खोले जाने संबंधी याचिका खारिज करने पर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि इससे इस मामले में भारी गड़बड़ी होने की बात प्रमाणित होती है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि यह फैसला भ्रष्टाचार पर नरेन्द्र मोदी की सरकार के जीरो टॉलरेंस की जीत है। उन्होंने कहा कि सन 2011-12 में सोनिया, राहुल और ऑस्कर फर्नांडीज द्वारा फाइल किए गए आयकर रिटर्न की हाल ही दुबारा जांच करने की नोटिस को कांग्रेस नेताओं ने दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। दरअसल इन तीनों ने नेशनल हेराल्ड के नवजीवन ट्रस्ट के हाथों टेक ओवर का जिक्र करके यह तथ्य छिपाया कि वह आमद कहां है?

उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के इस फैसले से साफ हो जाता है कि इस मामले में कांग्रेस नेतृत्व अपनी करतूतों व गड़बडिय़ों को छिपाने की कोशिश कर रहा था, जिसे केन्द्र सरकार ने भ्रष्टाचार कार्रवाई के दायरे में लाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने भ्रष्ट कारनामों को छिपाने के लाख जतन करे, पर अंतत: हर मोर्चे पर कांग्रेस नेताओं के भ्रष्टाचार का घड़ा फूटता ही जा रहा है।

हाईकोर्ट के फैसले के बाद इस प्रकरण से जुड़े कई चौंकाने वाले तथ्यों के खुलासे के बाद कांग्रेस नेतृत्व लोगों को मुंह दिखाने की स्थिति में नहीं रहेगा।

कौशिक ने कहा कि इस मामले पर हाईकोर्ट के फैसले से लोगों का ध्यान हटाने के लिए ही कांग्रेस ने भारत बंद की तारीख भी वही तय की, जिस दिन हाईकोर्ट यह फैसला सुनाने वाला था और कांग्रेस नेतृत्व को इस मामले में अपने खिलाफ फैसला आने का पक्का अंदेशा था। पर कांग्रेस नेता अपनी तमाम कोशिशों के बावजूद देश को बरगलाने में कामयाब नहीं होंगे।

Tags
Back to top button