पंचायत सचिव द्वारा जरूरत मंदो की पेंशन बनाने के लिए की जारी है रुपयों की मांग

प्रकाश यादव:

कसडोल: बुजुर्गों और जरूरत मंदो को दो जून की रोटी नसीब हो सके और समाज में आत्मसम्मान से जीवन जीने का अवसर मिले इस आशय से सरकार ने विभिन्न पेंशन योजनाएं लागू की है लेकिन कसडोल जनपद पंचायत क्षेत्र के छाता ग्राम पंचायत के आश्रित गांव निथोरा में पंचायत सचिव लोकेश साहू के द्वारा जरूरत मंदो का पेंशन बनाने के लिए रुपयों की मांग की जाती है, पंचायत सचिव की इस ओछी हरकत की वजह से ग्रामीणों को छः छः माह का पेंशन नहीं मिल पाया है सचिव की इस तानाशाही रवैये से परेशान ग्रामीणों ने पंचायत सचिव पर कार्यवाही करने लिए एस डी एम कसडोल से गुहार लगाई है।

पेंशन की आस लिए निथोरा गांव के बुजुर्गों की आंखे पथरा गयी और कमर झुग गयी लेकिन सरपंच सचिव की मनमानी से ग्रामवासियों को मिलने वाला पेंशन आज महज एक सपना बनकर रह गया है निथोरा गांव वालों का कहना हैं कि सचिव लोकेश साहू के द्वारा पंचायत से संबंधित हर कार्य को करने के बदले हजार पांच सौ रुपयों की मांग किया जाता है और नहीं देने पर दस्तावेजों पर हस्ताक्षर नहीं करता है। सचिव की हरकत से ग्रामीणों को पेंशन नसीब नहीं हो पा रहा है।

वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों का आरोप है कि सचिव ग्राम निथोरा के मृत व्यक्तियों के नाम से भी पेंशन आहरण कर रहा है।वहीं ग्रामीणों के इस आरोप पर सचिव का कहना है कि ग्रामीणों के द्वारा जो भी बातें कही जा रही है वह झूठ है, फिलहाल सचिव की शिकायत ग्रामीणों ने एस डी एम कसडोल से मिलकर की जिसके बाद एस डी एम ने जांच के बाद कार्यवाही की बात कही है।

Tags
Back to top button