संपत्ति को लेकर चल रहा था विवाद, सास के ऊपर मिट्टी तेल छिड़ककर लगाई आग

पुलिस ने आरोपी बहू को गिरफ्तार कर लिया है।

रायपुर, संपत्ति विवाद को लेकर रविवार की शाम बहू ने सास पर मिट्टी तेल छिड़ककर आग लगा दी। चीख सुनकर पहुंचे बेटे ने गंभीर हालत में उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। बेटे की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी बहू को गिरफ्तार कर लिया है। घटना तेलीबाधा थानाक्षेत्र के गली नंबर सात, रविग्राम की है।

तेलीबांधा थानप्रभारी राजेश बागड़े ने बताया कि तेलीबांधा गली नंबर सात रविग्राम में रामचंद जसूजा (38) का परिवार रहता है। घर में पत्नी और बच्चों के अलावा मां है। पिछले कई महीने से रामचंद की दूसरी पत्नी ममता जसूजा का सास मोहनी जसूजा से संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा है। रविवार शाम पांच बजे ममता ने मकान और जमीन अपने नाम लिखवाने की बात कहते हुए सास मोहनी से विवाद किया।

सास मोहनी ने बहू ममता के नाम मकान और संपत्ति करने से साफ मना कर दिया। इस बात से नाराज होकर पर बहू ने मिट्टी का तेल सास मोहिनी पर उड़ेल कर आग लगा दिया। आग की लपटों में घिरी सास मोहनी के चिल्लाने पर रामचंद्र वहां पहुंचा। उसने किसी तरह से आग बुझाई और फिर मां को लेकर निजी अस्पताल पहुंचा। रामचंद्र की शिकायत पर पुलिस ने धारा 307 के तहत अपराध कायम कर ममता जसूजा को गिरफ्तार कर लिया।

संपत्ति और जेवर दिलाने को लेकर विवाद –

प्राइवेट जॉब करने वाले रामचंद जसूजा ने पुलिस को बताया कि वर्ष 2001 में उसका सामाजिक रीति रिवाज से सुमन जसुजा के साथ विवाह हुआ था। सुमन से दो बच्चों बेटा प्रथम(16) और बेटी भूमि जसूजा(12) है। पति-पत्नी के बीच संबंध मधुर नहीं होने से दोनों स्वेच्छा से अलग हो गये है।

बेटा पिता के साथ और बेटी मां के पास चकरभाठा, बिलासपुर में रहती है। कुछ दिन के बाद रामचंद ने कटंगी, बालाघाट निवासी ममता जसूजा को पत्नी बनाकर घर लाया था।

वह लगातार अपने नाम से जमीन का रजिस्टी कराने और जेवर दिलाने का दबाव बनाती आ रही थी। इसे लेकर विववाद भी होता था। रविवार शाम 5 से 6 बजे रामंचद अपनी दुकान में थे, तभी बेटे प्रथम जसूजा ने फोन पर बताया कि अम्मा ने दादी को आग से जला दिया है।

घटना की जानकारी मिलते ही घर पहुंचा तो मां को गंभीर हालत में जला पाया। पूछने पर मां ने बताया कि जमीन विवाद को लेकर ममता ने मिट्टी तेल डालकर आग लगाकर हत्या की कोशिश की।

Back to top button