राष्ट्रीय

कोरोना संकट के बीच श्रद्धालुओं के लिए पहली बार खुलेंगे अक्षरधाम मंदिर के दरवाजे

पिछले 6 महीने से अक्षरधाम मंदिर आम भक्तों के लिए बंद पड़ा था

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए 24 मार्च को घोषित किए गए देशव्यापी लॉकडाउन के बाद अक्षरधाम मंदिर के दरवाजे श्रद्धालुओं के लिए पहली बार खुलेंगे. आपको बता दें कि पिछले 6 महीने से अक्षरधाम मंदिर आम भक्तों के लिए बंद पड़ा था. हालांकि अभी भी भक्तों के लिए यह व्यवस्था सीमित ही रखी गई है.

जानकारी के मुताबिक शाम को 5:00 से 6:30 के बीच में ही श्रद्धालु दर्शन के लिए अक्षरधाम मंदिर जा सकते हैं. शाम 6:30 बजे के बाद मंदिर में श्रद्धालुओं को एंट्री नहीं दी जाएगी. रात 8:15 बजे मंदिर को बंद करने का समय तय किया गया है. मंदिर जाते वक्त श्रद्धालुओं को मास्क पहनना अनिवार्य होगा. इसके अलावा एंट्री गेट पर थर्मल चेकिंग भी की जाएगी.

सभी को अपने साथ सैनिटाइजर भी रखना होगा और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करना होगा. इसके अलावा अक्षरधाम मंदिर को दर्शनों के लिए तो खोल दिया गया है लेकिन वहां की प्रसिद्ध झांकी, प्रदर्शनी और अभिषेक मंडप को बंद ही रखा जाएगा.

कोरोना के मद्देनजर लोगों को सुरक्षित रखने के मकसद से अभी सिर्फ मंदिर को ही दर्शनों के लिए खोला गया है. लेकिन अक्षरधाम मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करते हुए वाटर शो को मंगलवार से खोला जा रहा है. गौरतलब है कि सहज आनंद नाम से मशहूर वाटर शो को अक्षरधाम मंदिर में देखने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़ते हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button