छत्तीसगढ़

8 सितम्बर को किया जाएगा संगठन के प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव

चार सूत्रीय मांगों पर की जाएगी संगठन की भावी रणनीति तय

रायपुर: प्रदेश में संगठन के प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव का आयोजन 8 सितम्बर रविवार को होने जा रही है। इसमें कई मुद्दों पर संगठन की भावी रणनीति तय की जाएगी, जिसमें प्रमुख चार सूत्रीय मांगों, वर्ष बन्धन, वेतन विसंगति, क्रमोन्नति एवँ अनुकम्पा नियुक्ति है।

राजधानी रायपुर स्थित कलेक्ट्रेड गार्डन में रविवार, 8 सितम्बर को सुबह 11 बजे से फेडरेशन की प्रांतीय बैठक प्रारम्भ होगी जो शाम 4 बजे तक चलेगी। सर्वप्रथम सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे तक प्रदेशाध्यक्ष के सभी उम्मीदवार अपना नामांकन दर्ज कराएंगे तत्पश्चात चुनाव प्रारम्भ होगा।

पारदर्शी लोकतांत्रिक प्रणाली से अपना वोटिंग

प्रदेशाध्यक्ष के चुनाव में प्रदेश का कोई भी शिक्षाकर्मी वर्ग 03/सहायक शिक्षक एलबी/पंचायत संवर्ग वोटिंग कर सकेगा। प्रदेशभर से आए हुए शिक्षाकर्मी साथीगण उम्मीदवारों के पक्ष में अपना हाथ उठाकर खुली मतदान प्रणाली के तहत पारदर्शी लोकतांत्रिक प्रणाली से अपना वोटिंग करेंगे।

प्रदेशाध्यक्ष के चुनाव सम्पन्न होने के पश्चात फेडरेशन के चार सूत्रीय मांगों के सम्बंध में भावी रणनीति तैयार की जाएगी। यह बात उल्लेखनीय है क्रमोन्नति वेतन नहीं मिलने व वेतनमान में भारी विसंगति के चलते प्रदेशभर के 1,09,000 शिक्षाकर्मी वर्ग 03 आज प्रत्येक माह 12 से 17 हजार तक के बड़े भारी आर्थिक नुकसान में है।

फेडरेशन के प्रदेश संयोजक जाकेश साहू ने बताया कि मध्यप्रदेश में प्रथम नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता की गणना करते हुए क्रमोन्नति वेतनमान दिया जा रहा है परंतु छत्तीसगढ़ में ऐसा नहीं हो रहा है जो प्रदेश के 1,09,000 शिक्षाकर्मी वर्ग 03 के लगभग 10 लाख पारिवारिक सदस्यों, माता-पिता, भाई-बहन व पुत्र-पुत्रियों के साथ घोर अन्याय व भयंकर आर्थिक शोषण है जो अब कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

प्रदेश संयोजक जाकेश साहू ने प्रदेशभर के समस्त शिक्षाकर्मी साथियों, संकुल, ब्लाक व जिला पदाधिकारीयों तथा संकुल, ब्लाक व जिला अध्यक्ष साथियों एवँ आम शिक्षाकर्मी सदस्य साथियों से बैठक में अधिक से अधिक संख्या में उपस्थिति की अपील की है जिससे कि एक स्वस्थ लोकतांत्रिक प्रक्रिया से संगठन के मुखिया व प्रदेश के नेतृत्वकर्ता का चुनाव किया जा सके।

Tags
Back to top button