महानदी में फंसा हाथी का बच्चा, ग्रामीणों ने ऐसे सुरक्षित निकाला

महासमुंद ।

जिला मुख्यालय महासमुंद से 30 किमी दूर चपरीद (आरंग) गांव में महानदी के तट पर एक 15-16 दिन का हाथी का बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया है। सुबह ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे वन विभाग के अमले ने महानदी के तट पर एक गड्ढे में फंसे बच्चा हाथी को ग्रामीणों की मदद से बाहर निकाला।

नंदनवन भिलाई के वन्यजीव चिकित्सक डॉ जयकिशोर जड़िया को हाथी के बच्चे के घायल होने की सूचना दी गई थी। करीब 11 बजे मौके पर पहुंचे वन्य जीव चिकित्सक डॉ जड़िया ने ढाई घंटे तक उपचार किया। जीवन रक्षक दवाइयां दी। हाथी के बच्चे की हालत नाजुक बनी हुई है।

हाथी देखने बड़ी संख्या में ग्रामीण महानदी के तट पर पहुंच गए हैं। भीड़ को संभालने में वन और पुलिस अमले को भारी मशक्कत करनी पड़ रही है। धूप तेज होने से हाथी महानदी में जलक्रीड़ा करने के साथ ही घायल बच्चा हाथी को लेने बार-बार महानदी से निकलकर बाहर मैदान में आ रहे हैं।

डॉ जड़िया का कहना है कि बच्चा बहुत छोटा है। गंभीर रूप से घायल होने से खड़े नहीं हो पा रहा है। जिंदगी और मौत से जूझ रहे बच्चा हाथी के लिए अगला तीन घंटा अहम है। महानदी में कुल 16 हाथी है। इनमें एक बच्चा हाथी गंभीर रूप से घायल है।

1
Back to top button