छत्तीसगढ़

दिवाली में शहर और आसपास की ट्रैफिक व्यवस्था चरमराई

म्युनिसिपल, ट्रैफिक एवं जिला प्रशासन बेखबर

मनीष शर्मा

मुंगेली।

दिवाली के सप्ताह भर पूर्व से ही त्योहारी सीजन में व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के पूरे शहर भर अपनी दुकानें सड़को पर ले आने से आमजनमानस का पैदल चलना दूभर हो जाता है।

म्युनिसिपल,ट्रैफिक व प्रशासन इन व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के सामने मुकदर्शक ही खड़े रहने मजबूर होता है।जिला बनने के 6 साल बाद अब म्युनिसिपल, ट्रैफिक,प्रशासन के पास वो सारे संसाधन, स्टाफ है।

बावजूद कभी शहर के अतिक्रमण व बदहाल ट्रैफिक के लिए किसी ने भी जिम्मेदारी से प्रयास नही किया त्योहारी सीजन में भीड़ के समय महिलाओं से छेड़छाड़, मोटरसाइकिल चोरी,चैन स्नैचिंग आम बात रहती है।

बता दें अभी हाल में एक सप्ताह से बड़े बड़े होटलो द्वारा अपनी दुकानों से बाहर मिष्ठान सजाकर खुले में बेचा जा रहा है खाद्य विभाग की कार्यवाही शून्य है बताया जा रहा है इन विभागों ने इन प्रतिष्ठानों से कुछ दिन पूर्व मीटिंग कर अपनी सेवा सत्कार के बाद ऐसी छूट दे रखी है केमिकल युक्त मिठाइयों व खुले धूल में समाये मिठाइयों से फ़ूड पॉइजनिंग जैसी संभावना से इनकार नही किया जा सकता।

इनके अलावा दाउपारा से करही मार्ग के सभी दुपहिया शो रूम ने विगत सप्ताह भर से 24 घंटे अपनीशो रूम की मोटर साइकिलो को दूकानों से बाहर राष्ट्रीय राजमार्गों में सजा रखा है जिला मुख्यालय के सभी वरिष्ठ अधिकारियों के बंगले व कार्यालय भी इसी मार्ग में है।

मगर इन अतिक्रमणकारियों पर कार्यवाही ना होना समझ से परे है इन शो रूम के बलात अतिक्रमण के चलते हर समय जाम की स्थिति निर्मित होती है ।कहने को जिलाप्रशासन द्वारा हर ऐसे मोके पर शांति समिति की मीटिंग की जाती है मगर उसका परिपालन होता बिल्कुल नजर नही आता है।

दिवाली पूर्व पूरे शहर और आसपास की ट्रैफिक व्यवस्था चरमराई
दिवाली पूर्व पूरे शहर और आसपास की ट्रैफिक व्यवस्था चरमराई
Tags
advt