छत्तीसगढ़

रोजगार गारंटी योजना से बने कुआ ने पेयजल की समस्या का समाधान कर आत्मनिर्भर बनाया

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना से एक लाख 52 हजार रूपए की लागत राशि से पवन के लिए कूप निर्माण कार्य स्वीकृत किया गया।

हिमांशु सिंह ठाकुर :- ब्यूरो कवर्धा की रिपोर्ट।

कवर्धा : कबीरधाम जिले के विकासखंड बोड़ला के ग्राम पंचायत ढोलबज्जा में सिंचाई कूप निर्माण से पवन पिता सोहन सिंह को रोजगार के साथ पेयजल के लिए घर में ही व्यवस्था हो गया है महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना से एक लाख 52 हजार रूपए की लागत राशि से पवन के लिए कूप निर्माण कार्य स्वीकृत किया गया।

इस काम से 186 मानव दिवस का रोजगार सृजन हुआ जिसमें पवन के परिवार को 98 मानव दिवस का रोजगार मिल हैं जिसके लिए 18 हजार 620 रुपए का मजदूरी राशि पवन के परिवार को इस काम से मिला। घर में कुआं का निर्माण हो जाने से पवन को बहुत सुविधा मिला गया है।

अपनी बॉडी में साग सब्जियां लगाकर घर के लिए दो पैसे की आमदनी का रास्ता खुल गया हैं। समीप के बोड़ला बाजार में बॉडी से सब्जी बेचकर आमदनी हो रहा है आमदनी से घर की दूसरी जरूरत भी पूरी हो जाती है। जहां पहले पेयजल की व्यवस्था नहीं थी वहीं अब कुए का स्वच्छ जल साल भर पीने और घर के अन्य उपयोग हेतु सभी समय उपलब्ध रहता है कूप निर्माण कार्य में 186 मानव दिवस का रोजगार सृजित हुआ जिसके लिए 28 500 मजदूरी भुगतान ग्रामीणों को प्राप्त हुआ।

पांच सप्ताह चले इस कार्य से पवन का परिवार तो लाभान्वित हो रहा है साथ ही और भी दूसरे ग्रामीण को पेयजल की सुविधा मिली है ग्राम पंचायत ढोलबज्जा मुख्य रूप से वनांचल गांव है ऐसे क्षेत्रों में रोजगार गारंटी योजना से पेयजल जैसी मूलभूत सुविधाओं के साथ रोजगार का अवसर मिलना पवन के लिए बहुत लाभकारी है क्योंकि अक्षय ऊर्जा विभाग (क्रेडा) के माध्यम से सौर सुजला योजना के तहत बहुत ही कम दर में सोलर पैनल लगा कर विभाग ने दिया है।

सोलर पैनल लग जाने से

सोलर पैनल लग जाने से पवन अपनी सुविधा अनुसार कभी भी पंप चालू कर कुए से पानी निकाल लेते हैं और अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति करते हैं। आज पवन अपनी बॉडी में कुए की मदद से सिंचाई तो कर ही रहा है साथ ही आत्मनिर्भर हो गया है। पवन को अब पहले की तरह पेयजल दूर से लाने की जरूरत नहीं है घर की बाड़ी में ही कुप का पानी पीने के लिए उपलब्ध।

Tags
Back to top button