वनमंडल की बेदखली कार्यवाही पर दुबारा कब्जा कर, दी थी विभाग को चुनौती, पुनः मीरा वेज ढाबा पर चला बुलडोजर

कटघोरा वनमंडल के आला अधिकारियों ने एक बार फिर जड़गा वनपरिक्षेञ में अवैध कब्जे को लेकर बुलडोजर चलाया है

अरविन्द शर्मा 

कटघोरा : कटघोरा वनमंडल के आला अधिकारियों ने एक बार फिर जड़गा वनपरिक्षेञ में अवैध कब्जे को लेकर बुलडोजर चलाया है दरअसल मीरा वेज ढाबा को बेदखली किये जाने बावजूद संचालको ने पुनः कब्जा जमा लिया था,जो कि विभाग के लिए सिरदर्द बन गया था।बता दे की बीते 7 अगस्त 2021 को वन अमले द्वारा वनभूमि पर अवैध तरीके से बने मीरा ढाबा को जमीदोज कर दिया था,जिस पर ढाबा संचालकों ने हठधर्मिता अपनाते हुए दूसरे दिन ही पुनः उस स्थान पर कब्जा जमा अपना व्यवसाय शुरू कर दिया गया था।जो कि वन विभाग की कार्यवाही को खुली चुनोती साबित हो रहा था।

कटघोरा वनमंडलाधिकारी शमा फारूकी

कटघोरा वनमंडलाधिकारी शमा फारूकी के निर्देशानुसार वनपरिक्षेञ जड़गा प्रभारी सत्तुलाल जायसवाल के नेतृत्व व जड़गा चौकी प्रभारी व स्टाफ की मौजूदगी में मीरा वेज ढाबा के अड़ियल संचालको को सबक सिखाते हुये दोबारा किये कब्जे पर बुलडोजर चला दिया है।वन विभाग की इस कार्यवाही से ढाबा संचालनकर्ता महिलाएं बौखलाई हुई नजर आ रही थी।इन्होंने वन अमले पर ही कई तरह के आरोप लगाने शुरू कर दिए जो कि इनकी खामियों को साफ साफ बयां कर रही थी।

इनके बुलंद हौसले हर किसी को दांतों तले उंगली दबाने पर आमादा कर देगा,दरअसल विभाग को ढाबा के संबंध में लगातार शिकायते मिल रही थीं लिहाजा 7 अगस्त 2021 को वन विभाग ने बड़ी कार्यवाही करते हुए मीरा वेज ढाबा को निश्तेनाबूत कर दिया था।जिस वजह से बोखलाए ढाबा संचालकों ने विभाग की कार्यवाही को धता बताते हुए पुनः कब्जा कर लिया और वन विभाग की छाती पर मूंग दलने लगे।इनकी हठधर्मिता देख वन अमला भी सकते में था।कुछ दिन इंतजार कर विभाग ने पुनः इनको कब्जा हटा लेने की बात कही पर शायद इन्हें अपने इरादों पर भरोसा था कि इस मर्तबा विभाग हमे नही हटा सकेगा।The eviction proceedings of the forest division were again captured, the department was challenged, again the bulldozer went on the Meera veg dhaba

हाई वोल्टेज ड्रामा

आज दोपहर जब वन अमला कब्जा हटाने मोके पर पहुँचा तो फिर ढाबा संचालकों का हाई वोल्टेज ड्रामा शुरू हो गया,ये वन अमले पर ही आरोप लगाते नजर आए कहने लगे आप लोग ही बोले थे तभी खोले हैं।जब बना रहे थे तब क्यो मना नही किये।अब इनके आरोपो में कितनी सच्चाई है ये तो कह पाना मुश्किल है पर इनके द्वारा दोबारा कब्जा कर लेना विभाग को बड़ी चुनोती थी।समझाईश के बीच ड्रामा चलता रहा और फिर विभाग का बुलडोजर शुरू हो गया।देखते ही देखते पूरा ढाबा पुनः जमीदोज हो गया।

विभाग ने इस बार सख्त लहजे में समझाईश दी है अगर पुनः वनभूमि पर कब्जा किया गया तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी।कटघोरा डिएफओ शमा फारूकी ने बताया कि वनभूमि पर अवैध निर्माण या कब्जा किये जाने की शिकायत प्राप्त होने पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी।आगामी दिनों में ऐसे कब्जो को लेकर मुहिम चलाई जाएगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button