छत्तीसगढ़

फैलती जा रही ATR के जंगलों में लगी आग, उपकरण विहीन वन विभाग बेबस

मनीष शर्मा:

मुंगेली: लोरमी के अचानकमार टाइगर रिजर्व के जंगलों में अभी भीषण आग लगी हुई है, लेकिन वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के द्वारा किसी तरह आग बुझाने के लिए उचित उपाय नहीं किया जा रहा है. लोरमी अंतर्गत गाभीघाट क्षेत्र का जंगल भी पिछले कुछ दिनों से भीषण आग की चपेट में है.

लाखों की वन संपदा जलकर खाक

साथ ही सैकड़ों एकड़ से अधिक वन क्षेत्र में आग फैली हुई है. जिससे जंगली जानवरों की जान को भी खतरा बना हुआ है और पूरा जंगल को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है.  साथ ही बरगन और अघरिया जंगल का हिस्सा पूरी तरह जलकर खाक हो गया है. जानकारों के अनुसार जंगल में आग लगने से लाखों की वन संपदा जलकर खाक हो गई है. आज फिर दोपहर बाद अचानक जंगल से आग की लपटें उठती दिखाई दी.

बता दें अचानकमार टाइगर रिजर्व क्षेत्र में जंगली जानवरों का भी रहना होता है और वहां जंगली जानवरों को आसानी से देखा जा सकता है. जिसके बावजूद वन विभाग के लापरवाह अधिकारियों द्वारा गर्मी के दिनों में लगने वाली भीषण आग से बचने के लिए किसी तरह अभी तक कोई फायर वाचक की नियुक्ति नहीं की गई है.

कोर जोन से जलते हुए बफर जोन तक लगी आग

लापरवाही का आलम तो यह है कि कोर जोन से आग जलते हुए बफर जोन तक लगी हुई है. जिसके बाद जंगल में जल रही आग को बुझाने खानापूर्ति की कार्यवाही करते हुए कुछ वन विभाग के कर्मचारी ही आग बुझाने के लिए पहुंचते हैं. जिनसे फैली जंगल की आग पर काबू पाना संभव नहीं है.

ऐसे में जवाबदार अधिकारी भी अपनी जवाबदारी से बचते हुए नजर आ रहे हैं ऐसे में अचानकमार टाइगर रिजर्व क्षेत्र में जंगली जानवरों के जान को भी खतरा मंडराने लगा है. प्रायः भीषण गर्मी के दौरान हर साल यह घटना हो रही है लेकिन ना कभी गंभीरता से वैन विभाग संज्ञान में लिया और ना ही शासन जिसके चलते प्रतिवर्ष करोड़ों के राजस्व की हानि का रिकॉर्ड विभाग खुद बता सकता है .

मगर अत्याधुनिक संसाधनों के अभाव में बेबस लाचार वैन विभाग इस आगजनी में भी अपनी स्वार्थ पुरट कर लेता है मगर ये आगजनी की घटना रोकना उचित नही समझता।बहरहाल अब देखना यह होगा कि कब तक गहरी नींद में सोए हुए अचानकमार टाइगर रिजर्व के अधिकारी जल रहे जंगल के आग को बुझाने में कामयाब होते हैं या राज्य की नई सरकार स्वतः संज्ञान में लेती है जो हर समय जल जंगल जमीन बचाने की दुहाई देती है.

Tags
Back to top button