छत्तीसगढ़

प्रदेश सरकार का लक्ष्य सुपोषित छत्तीसगढ़ बनाना है – डॉ. लक्ष्मी ध्रुव

राजशेखर नायर

नगरी /राष्ट्रीय पोषण माह 2020 के अन्तर्गत कुकरेल सेक्टर में एकीकृत बाल विकास परियोजना धमतरी (ग्रामीण) के सौजन्य से गोड़वाना भवन कुकरेल में सेक्टर स्तरीय पोषक माह कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं सिहावा विधायक डॉ. लक्ष्मी ध्रुव ने मां सरस्वती के तैल्य चित्र पर पूजा – अर्चना से किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक डॉ. ध्रुव ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि हमारे मुख्यमंत्री जी बच्चों एवं महिलाओं के स्वास्थ्य के प्रति चिंतित है। उनकी चिंता भी स्वाभाविक है आज छत्तीसगढ़ में 37 प्रतिशत बच्चे कुपोषित और 47 प्रतिशत महिलाएँ एनीमिया से पीड़ित हैं। उन्होंने कहा कि जिस प्रदेश में बच्चों और महिलाओं की इतनी बड़ी संख्या कुपोषित है, मैं समझती हूं कि कुपोषण नक्सल से भी बड़ी समस्या है। हमें सुपोषित छत्तीसगढ़ बनाना है जिससे आने वाली पीढ़ी स्वस्थ्य और खुशहाल रहे।
डॉ. ध्रुव ने कहा कि लाॅकडाउन के पहले तक मात्र छह महिने में ही 60 हजार से अधिक बच्चें कुपोषण मुक्त हुए, वहीं प्रदेश में 13 प्रतिशत बच्चे कुपोषण से बाहर आए हैं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और मितानिनों ने बहुत बढ़िया काम किया है, उनकी निष्ठा और सेवा भावना की वजह से यह सुखद परिणाम मिला है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के समय में भी इस अभियान को पूरी ताकत से चलाना है। कोरोना और कुपोषण दो अलग-अलग मोर्चे पर हमें लड़ाई लड़ना है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हमारी आंगनबाड़ी में काम करने वाली बहनों ने कोरोना काल में भी हितग्राहियों को घर-घर जाकर सूखा राशन वितरण किया है। हमारी सरकार का एकमात्र लक्ष्य सुपोषित छत्तीसगढ़ बनाना है।

सिहावा विधायक डॉ. लक्ष्मी ध्रुव ने कार्यक्रम में उपस्थित महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला स्तर के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सप्ताह में कम से कम एक दिन सिहावा विधानसभा के कुकरेल, गट्टासिल्ली, रिसगांव, बेलरगांव के क्षेत्रों में जाकर सुपरवाइजर के साथ बैठकर आंगनबाड़ी केंद्रों में जो भी कमी है, समस्या है तो बैठकर समस्या का समाधान करने निर्देशित किया है।

कृषि वैज्ञानिक ने जैविक खेती का पोषक में महत्व के बारे में जानकारी दी। बीज वितरण का कार्यक्रम भी हुआ। कृषि विभाग के अधिकारियों ने भोजन में उसके संतुलित आहार, विटामिन सूक्ष्म अनाज जैसे रागी कोदो आदि के बारे में जानकारी दी। जनप्रतिनिधियों ने कुपोषित बच्चों को गोद लेने के लिए प्रेरित किया।

कार्यक्रम में कुकरेल क्षेत्र के 5 माह के गंभीर कुपोषित बच्चों को सुपोषण किट एवं तीन गर्भवती माताओं को गोद भराई का कार्य विधायक के करकमलों से किया गया।

इस अवसर पर विधायक प्रतिनिधि कुकरेल श्यामसुंदर सिन्हा, ब्लॉक कमेटी कुकरेल के अध्यक्ष करण चंद्राकर, विधायक प्रतिनिधि रूद्रप्रताप नाग, मीडिया प्रभारी आदित्य सिंह ठाकुर, नारद ध्रुव, अखिलेश दुबे, कांग्रेस के जोन अध्यक्ष छबिलाल सिन्हा, जनपद सदस्य संतोषी साहू, सरपंच भोजबत्ती ध्रुव, हेमलता नेताम, पुष्पलता, ईश्वरी ध्रुव, सत्यवान ध्रुव, मनोज ध्रुव, घुरसिंह ध्रुव, नरेश दिवान, चिंताराम ध्रुव, दुखिया बाई, कृष्ण कुंजाम, ज्वाला प्रसाद मंडावी, महिला बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी एमडी नायक, पर्यवेक्षक नेहा यादव, कालिंदी देशलहरे, उद्यानिकी एवं कृषि विकास के अधिकारी, बीज निगम के अधिकारी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शामिल रहे। मंच संचालन सचिव ग्राम पंचायत कुकरेल रेवतलाल साहू ने किया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button