जनता के लिए नहीं सिर्फ कांग्रेसियों के लिए बनी है सरकार : केदार कश्यप

जगदलपुर: बस्तर के ऐतिहासिक दशहरा पर्व की 6 शताब्दी से भी अधिक समय से चली आ रही अटूट परंपराओं को प्रभारी मंत्री, सांसद व विधायक की उपस्थिति में तोड़ा जाना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा पर्व बस्तर वासियों की आस्था का प्रतीक है। बस्तर की आस्था से कांग्रेस खिलवाड़ कर रही है। उपरोक्त बातें आज बस्तर के पूर्व सांसद दिनेश कश्यप व पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने संयुक्त पत्र वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि आस्था से जुड़े प्रतीकों का राजनीतिकरण कतई नहीं होना चाहिए। बस्तर की जनता कांग्रेस को माफ नहीं करेगी।

नेता ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है कि हरेली अमावस्या से आरंभ होने वाले बस्तर दशहरा पर्व का पाटा जात्रा विधान दो-दो बार करना पड़ा। पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि कांग्रेस के नेता गण अपने समय की उपलब्धता के आधार पर बस्तर दशहरा पर्व की परंपराओं से खिलवाड़ कर रहे हैं और अपना नियम चला कर पर्व मनाना चाहते हैं। कांग्रेस अपनी परंपराओं को अपने तक सीमित रखे। बस्तर की जनता की भावनाएं आहत हुई हैं और उसके लिए कांग्रेस के आला नेता माफी मांगे।

पूर्व सांसद दिनेश कश्यप ने कहा कि यह बहुत गंभीर विषय है। एक ओर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लोक परंपराओं को ससम्मान पूरा करने की बात कहते हैं। समूचे छत्तीसगढ़ में हरेली का त्यौहार धूमधाम से मनाया गया। इस दिन अवकाश भी घोषित किया गया। और वहीं दूसरी ओर हरेली अमावस्या के दिन से आरंभ होने वाले बस्तर दशहरा पर्व की परंपरा व विधान को प्रभारी मंत्री, सांसद व विधायक की मौजूदगी में तोड़ा जाता है। उन्होंने कहा कि आगे बस्तर दशहरा पर्व कैसे संपन्न होगा। क्योंकि पर्व में आगे अनेक पूजा विधान है, वह कैसे व किस तरह पूरे होंगे। यह सोचनीय विषय बन गया है।

आज पत्रवार्ता के दौरान भाजपा प्रदेश मंत्री किरण देव, भाजपा जिला अध्यक्ष बैदूराम कश्यप, पूर्व विधायक संतोष बाफना, श्रीनिवास राव मद्दी, लच्छू राम कश्यप, रूप सिंह मंडावी, रामाश्रय सिंह, राजेंद्र बाजपेई, योगेंद्र पांडे, संजय पांडे, योगेंद्र कौशिक, लक्ष्मी कश्यप आदि उपस्थित थे।

जनता के लिए नहीं सिर्फ कांग्रेसियों के लिए बनी है सरकार

दिनेश कश्यप व केदार कश्यप ने कहा कि छत्तीसगढ़ में 6 माह पुरानी कांग्रेस की सरकार जनता की सेवा के लिए नहीं वरन कांग्रेसियों के लिए बनी है। उनकी नीतियों और कार्यप्रणाली से अधिकारी,कर्मचारी तक परेशान है। तबादला उद्योग चलाने के बाद अब राशन दुकानें तक कांग्रेसियों को देने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। नेता द्वय ने कहा कि अब कांग्रेसी भी यह मानने लगे हैं कि 5 साल बाद उन्हें नहीं आना है। छत्तीसगढ़ की जनता ने पूर्व में लगातार तीन बार भाजपा को चुना। आगामी समय में प्रदेश में 25 सालों तक भाजपा निरंतर जीत दर्ज कर सरकार बनाएगी।

Tags
Back to top button